अमित शाह बोले- झारखंड की जनता के जनादेश का सम्मान करते हैं

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड में पार्टी की हार स्वीकार करते हुए जनता को 5 साल तक सेवा के अवसर के लिए धन्यवाद दिया है। बीजेपी को यहां झारखंड मुक्ति मोर्चा-कांग्रेस और आरजेडी गठबंधन के सामने हार का सामना करना पड़ा है। उधर, मुख्यमंत्री रघुबर दास ने अब भी अंतिम नतीजों के इंतजार में हैं। उन्होंने कहा कि यदि बीजेपी हारती है तो यह निश्चित रूप से उनकी हार होगी।

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘हम झारखंड की जनता द्वारा दिए गए जनादेश का सम्मान करते हैं। बीजेपी को 5 वर्षों तक प्रदेश की सेवा करने का जो मौका दिया था उसके लिए हम जनता का हृदय से आभार व्यक्त करते हैं। बीजेपी निरंतर प्रदेश के विकास के लिए कटिबद्ध रहेगी। सभी कार्यकर्ताओं का उनके अथक परिश्रम के लिए अभिनंदन।’

गौरतलब है कि अमित शाह ने झारखंड चुनाव में कई रैलियों को संबोधित किया। वह 2014 के बाद से बीजेपी के चाणक्य माने जाते रहे हैं, लेकिन पिछले कुछ चुनावों में पार्टी के हाथों से कई राज्य निकल गए हैं। चुनाव विश्वेषक यह भी कहते हैं कि गृहमंत्री जैसा महत्वपूर्ण ओहदा संभालने की वजह से पार्टी के विस्तार में अधिक समय नहीं दे पा रहे हैं। पहले वह चुनाव वाले राज्यों में बूथस्तर तक की रणनीति तैयार करते थे और उसे अपनी निगरानी में अंजाम तक पहुंचाते थे।

ताजा रुझानों के मुताबिक, बीजेपी 25 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है या आगे चल रही है और महागठबंधन 46 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। झारखंड विधानसभा में कुल 81 सीटें हैं और बहुमत के लिए 41 सीटों की आवश्यकता होती है, जो आसानी से महागठबंधन पार कर चुकी है। 2014 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 37 सीटें मिली थीं।