कुंभ: दुनिया में ऐसा कोई दूसरा आध्यात्मिक पर्व नहीं होता

0
21

प्रयागराज: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विदेशाें में कुंभ की ब्रांडिंग और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं मंत्रियों को निमंत्रण देने का परिणाम है कि कुंभ के दौरान ही मारीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ और उनके साथ आए करीब 3000 हजार से अधिक विदेशी मेहमानों ने दिव्य और भव्य कुंभ का अवलोकन कर उसकी गरिमा का बखान किया। इससे पहले 70 देशों के एक -एक प्रतिनिधि भी कुंभ मेले की तैयारी का जायजा ले चुके है।

साधु-संतो की जानी-मानी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि ने कुंभ मेले को दुनिया का ऐसा इकलौता धार्मिक आयोजन बताया है जिसमें आस्था का ऐसा विशाल समंदर हिलोरें मारता दिखायी पड़े।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धार्मिक आयोजन की सफलता पर बधाई देते हुए श्री गिरि ने कहा कि दुनिया के किसी देश में ऐसा कोई आध्यात्मिक और धार्मिक पर्व नहीं है। जहां करोड़ों की तादाद में श्रद्धालु एक साथ इकठ्ठा होकर पवित्र नदियों अथवा सरोवर में स्नान करते हों।

उन्होंने कहा कि श्री योगी इस आयोजन के लिये बधाई के पात्र है। जिन्होने जिस दिव्य और भव्य कुंभ की घोषणा की थी, उसे अक्षरश: सच कर दिखाया।
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने कहा कि विश्व में ऐसा कोई मुल्क नहीं है जहां तीन नदियों के संगम में एक ही दिन (मौनी अमावस्या) पर पांच करोड़ श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाते हों। ‘अनेकता में एकता’ की इससे बड़ी मिसाल कहीं देखने को नहीं मिलती।

@शाश्वत तिवारी