Home > 18+ News Adult > बच्‍चें की मानसिकता समझे, पॉर्न साइट्स को लेकर

बच्‍चें की मानसिकता समझे, पॉर्न साइट्स को लेकर

आपका बच्चा पॉर्न देखता है यह बात किसी भी पैरेंट्स के लिए किसी झटके से कम नहीं होगी। आपको यह समझना होगा कि आपका बच्चा का सेक्स के प्रति उत्सुक होना, पॉर्न देखना या पढ़ना एक साधारण बात है। हर उम्र में सेक्‍स को लेकर जिज्ञासा बढ़ती है। लेकिन अगर वक्‍त पर बच्‍चों को की जिज्ञासा को समझकर उसे एक सही दिशा दी जाएं तो ऐसे में बच्‍चों को पोर्न देखने की आदत से बचाया जा सकता है।

पॉर्न साइट्स में सेक्‍स को लेकर एक नकारात्‍मक तस्‍वीर पेश की जाती हैं। माता-पिता के तौर पर आपके बच्चे के पॉर्न देखने पर आपका गुस्सा जायज़ है। इस आर्टिकल में हम आपको बता रहे है कि किस तरह आप अपने बच्चे को इस समस्या के बारे में समझने और सेक्स के प्रति एक हेल्दी नज़रिया विकसित करने में मदद कर सकते हैं। इस तरह अपने बच्‍चों को बाल यौन शोषण के प्रति भी जागरुक कर सकते हैं।

बच्‍चें की मानसिकता समझे फिर बात करें हो सकता है, कि आपके बच्‍चें ने पोर्न को अलग ही तरह से परिभाषित कर दिया हो, उसके लिए पोर्न का मतलब एक ऐसी चीज हो जो अकेले में छुपके से देखी जाती हो। और इसके बारे में उसे अधिकांश जानकारी और विचार अपने दोस्तों से ही मिल रहे हैं। इसलिए जब अपने बच्चे से इस बारे में बात करें, तो आपको उसके दिमाग को समझना होगा। आपको समझाना होगा कि सेक्स की इच्छा और उत्सुकता एक सामान्य बात है, लेकिन इसका ज़रिया पॉर्न फ़िल्में नहीं हैं। अगर आप अपने बच्चे को शर्मिंदा करेंगे, तो हो सकता है कि वह आपसे बात करना ही बंद कर दे।

सकारात्मक तरीके से बात करें- पॉर्न में प्रेम या एक हेल्दी रिश्ते के बारे में नहीं बताया जाता, और आपको यही चीज़ उसे समझानी है। उसे बताएं कि पॉर्न ग़लत क्यों है, क्यों वहां नहीं दर्शाया जाता कि दो लोगों के बीच इंटीमेसी या आत्मीयता को बढ़ाने के लिए सेक्स की मदद ली जाती है, क्यों वहां अविश्वनीय स्थितियां दर्शायी जाती हैं। अगर आप अपने बच्चे की मदद करेंगे तो वह हेल्दी सेक्स के बारे में एक बेहतर दृष्टिकोण बना पाएगा। इस तरह वह पॉर्न के अश्लील रूप के बुरे प्रभावों से बच सकेगा और अधिक सावधानी भरा व्यवहार करेगा।

सही जानकारी दे पोर्न के बारे में पोर्न फ़िल्मों में सेक्स को हिंसक और स्पष्ट रुप दिखाया जाता है, अपने बच्चे को समझाएं कि वह पोर्न वेबसाइट पर सेक्स का जो रुप देखता है, असली सेक्स वैसा नहीं है। पोर्न में कुछ लोग एक्टिंग करते हैं, जिसके लिए उन्हें पैसे मिलते हैं। वह केवल सेक्स की प्रक्रिया दर्शाते हैं। जबकि असलियत में सेक्स बहुत अलग है।

बच्‍चों की जिज्ञासाएं समझे सेक्‍स के बारे में बात करना और बच्‍चों की जिज्ञासा को समझना आसान नहीं हैं, इसलिए बच्‍चों को समझाएं कि सेक्‍स और पोर्न में क्‍या अंतर है। सेक्‍स एक नेचुरल प्रोसेस है और वो कितना नैसर्गिक है। ऐसी स्थितियों को सम्भालना काफी मुश्किल होता है, और हो सकता है कि यह आपके बच्चे को अच्छा भी न लगे या वो इसे सकारात्मक तरीके से न ले सके।

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .