Home > India News > मायावती की रैली में भगदड़, दो महिलाओं की मौत

मायावती की रैली में भगदड़, दो महिलाओं की मौत

File-Pic

File-Pic

लखनऊ- बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली में भगदड़ मचने से दो महिलाओं की दबकर मौत हो गई, जबकि 12 अन्य घायल हो गए. रैली का आयोजन कांशीराम स्मारक स्थल पर किया गया था। पुलिस ने बताया कि सीढ़ियों पर बने दो द्वारों में से एक से लोग नीचे आ रहे थे और संतुलन बिगड़ने से एक दूसरे के ऊपर गिर पड़े। घटना में बिजनौर की 68 वर्षीय शांति देवी और एक अन्य अज्ञात महिला की दम घुटने से मौत हो गई।

बसपा के एक प्रवक्ता ने बताया कि बिजली का तार कटने की अफवाह के चलते भगदड़ मची। घायलों को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है। पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष राम अचल राजभर ने हालांकि कहा कि महिलाओं की मौत गर्मी और उमस की वजह से हुई। बसपा संस्थापक कांशी राम की दसवीं पुण्यतिथि पर बड़ी संख्या में बसपा कार्यकर्ता और लोग एकत्र हुए थे. वर्ष 2002 में लखनऊ में बसपा की एक रैली के बाद चारबाग रेलवे स्टेशन में पार्टी के कम से कम 12 कार्यकर्ता मारे गए और 22 घायल हो गए थे।

मायावती का मोदी पर हमला
बोलीं देश की जनता से किए एक चौथाई वादे भी मोदी सरकार ने पूरे नहीं किए हैं। बीजेपी RSS के एजेंडे पर साम्प्रदायिकता को मजबूत कर रही,दिल्ली की कानून-व्यवस्था बीजेपी सरकार ठीक नहीं कर पा रही। 2007, 2012 की तरह बीजेपी तीसरे नम्बर पर रहेगी,इस बार बीजेपी अपने कर्मों से चौथे नम्बर पर भी जा सकती है। भीड़ जुटाने के लिए बीजेपी फिल्मी कलाकारों का इंस्तेमाल करेगी,भीड़ को वोट में बीजेपी नहीं बदल पाएंगी।

माया ने सपा को आड़े हाथ लिया
उन्होंने कहा की यूपी में मुलायम के पुत्र मोह की वजह से यादव वोट बैंक अखिलेश और शिवपाल यादव के खेमों में बट गया है। शिवपाल के खेमो को अखिलेश खेमो और अखिलेश के खेमो को शिवपाल के लोग हराने की अंदर ही अंदर ही कोशिश करेंगे। सपा के राज़ में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गया है।

बीएसपी की सरकार बनने के बाद गुंडों माफियाओं को जेल के अंदर भेज जायेगा। गुंडा टैक्स की वसूली और महिलौओं के खिलाफ अपराध नहीं होगा। सर्जिकल स्ट्राइक पर माया बोली की BSP को बदनाम करने की साजिश से सावधान रहे, BJP आतंकवादी वारदातों को चुनाव में भुनाने की कोशिश करेगी बीजेपी ने आतंकवादियों पर हमले का फैसला देर से लिए, 9 महीने पहले पठानकोट पर हमले के बाद फैसला लेना चाहिए था। चुनाव में फायदा लेने के लिए बीजेपी सरकार का हथकंडा,सेना का श्रेय लूटने में लगे है बीजेपी के मंत्री।

यूपी में चुनाव को देखते हुए युद्ध करा सकते हैं पीएम मोदी, चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक बीजेपी जा सकती है। मायावती ने कहा की अभी उड़ी में शहीदों की चिता ठंडी नहीं हुई, पीएम दशहरा मना रहे, राजनैतिक लाभ के लिए पीएम लखनऊ में दशहरा मनाने आ रहे।

माया ने कांग्रेस पर भी हल्ला बोलते हुए कहा की कांग्रेस ने देश में सबसे ज्यादा 37 वर्षों तक राज किया,कांग्रेस गलत नीतियों के कारण सत्ता से बाहर हुई। कांग्रेस का किसानों से किया जा रहा वादा झूठा, कांग्रेस का किसानों का कर्ज माफ करने का वादा झूठा।

बीजेपी, कांग्रेस, सपा सत्ता में आने को हर हथकंडा अपना रही, सर्वजन हिताए, सर्वजन सुखाए बीएसपी की नीति।
कांग्रेस ने एसी में बैठने वाले किसानों का कर्ज माफ किया था, छोटे, मध्यम किसानों का कांग्रेस ने कर्जा माफ नहीं किया था। बसपा नेता लिखित बयान ही जारी करे। मैं भी लिखित बयान देती हूं, लिखकर नहीं बोलेने पर राहुल गांधी जैसी स्थिति होगी। बसपा से बाहर गए नेताओं पर माया ने कहा की बीएसपी पर जाने वाले लोगों से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, उन्होंने कहा की आज की इस समुद्री विशाल महारैली से विरोधियों की नींद उड़ी।

मीडिया से सावधान !
माया ने मीडिया पर बोला की मीडिया सर्वे का प्रयोग बीएसपी का मनोबल गिराने के लिए, सर्वे और मीडिया से सावधान रहना है। मायावती ने अखिलेश के वादों पर लैपटॉप और स्मार्टफोन के बदले नकद मदद करने की बात कही। माया ने साफ़ किया की बसपा सरकार बनने पर अब प्रदेश में नए स्मारक और संग्रहालय नहीं बनाए जाएंगे, उन्होंने कहा की पिछली बसपा सरकार में स्मारक और संग्रहालय में काम पूरे हो चुके। माया ने कहा की बीएसपी जो करती है पूरी ईमानदारी से करती है, अन्य पार्टियां घोषणापत्र को पूरा नहीं करती हैं।

‘यूपी में लगे राष्ट्रपति शासन’
मायावती ने पीएम मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मोदी ने बातें की थी ‘सबका साथ, सबका विकास’, ‘अच्छे दिन आएंगे’ जो सिर्फ जुमला बनकर रह गया है, ये सब हवा हवाई बातें हैं। मायावती ने 2017 में पूर्ण बहुमत से यूपी में सरकार बनाने का दावा किया साथ ही कहा कि बीजेपी यूपी में तीसरे नंबर की पार्टी होगी या चौथे पर भी जा सकती है। यूपी के हालात राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के काबिल हैं। मायावती ने कहा कि सपा ने बसपा के कार्यक्रमों/योजनाओं का नाम बदलकर चलाया है।
रिपोर्ट- @शाश्वत तिवारी




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .