Home > State > Delhi > चक्रपाणी हिन्दू महासभा का सदस्य नहीं : डॉ संतोष राय

चक्रपाणी हिन्दू महासभा का सदस्य नहीं : डॉ संतोष राय

Akhil Bharatiya Hindu Mahasabhaनई दिल्ली- फिल्म निर्माता एवं हिन्दू महासभा के वरिष्ठ नेता ने आजप्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि स्वामी चक्रपाणी आये दिन हिन्दू महासभा कास्वयम्भू घोषित अध्यक्ष कहकर मीडिया में सुर्खियाँ पाता हैं जबकि चक्रपाणी हिन्दू महासभा कासदस्य भी नहीं है और ऐसा दिल्ली कि माननीय उच्च न्यायालयके मुख्य न्यायाधीश के पीठ द्वारा निर्णय भी हो चुका है की स्वामी चक्रपाणी हिन्दू महासभा के राष्ट्रिय अध्यक्ष नहीं है और इस निर्णय कीपुष्टि माननीय भारत के उच्चतम न्यायालय ने कर दी है और चक्रपाणीको अभी भी राष्ट्रिय अध्यक्ष नहीं कहना चाहिए और ऐसा करना माननीय न्यायालय का अपमान है !

जो व्यक्ति हिन्दू महासभा का सदस्य भी न रहा हो वह अध्यक्ष तो क्या किसी भी पर नहीं रह सकता इस आधार पर यह वाद हिन्दू महासभा कि केन्द्रीय उच्चाधिकार समिति द्वारा जीता गया, यहाँ तक की स्वामी चक्रपाणी एवं चन्द्र प्रकाश कौशिक ने “ राम जन्मभूमि” के वाद में केवीएट डाला था वह भी माननीय उच्चतम न्यायलय ने रद्द कर दिया थाऔर यह अधिकार “हिन्दू महासभा की केन्द्रीय उच्चाधिकार समिति” के पास है औरउस समय केन्द्रीय उच्चधिकार समिति के अध्यक्ष डॉ संतोष राय थे और अब “केन्द्रीय उच्चाधिकार समिति” के अध्यक्ष बाबा नन्द किशोर मिश्र हैं ! हिन्दू महासभा कि केन्द्रीय उच्चाधिकार समिति द्वारा डाले गए वाद संख्या SLP3600 को श्री राम लला विराजमान के लिए मान्य किया गया!

सभी को यह भी पता है कि जब साधुओं कि “अखाड़ा परिषद्” ने चक्रपाणी को साधू मानने से मना कर दिया तो चक्रपाणी ने एक“संत सभा” नामका संगठन खड़ा किया और फर्जी लोगों को साधू संत का प्रमाण पत्र देने लगे, इसी का एक साथी है प्रमोद कृष्णन जो कि अपने को कल्कि पीठाधीश्वर कहता है उसके सम्बन्ध आजम खान और अन्य साम्प्रदायिक नेताओं से अच्छे हैं और चक्रपाणीद्वाराअपने आप को हिन्दू महासभा अध्यक्ष कह कर यह सन्देश देना कि कमलेश तिवारी का हिन्दू महासभा से कोई लेना देना नहीं है षड्यंत्र कि बू आती है और इन लोगों ने यह सन्देश देने का भी प्रयास किया कि हिन्दू महासभा कमलेश तिवारी के साथ नहीं है ! फिल्म निर्माता एवं हिन्दू महासभा के वरिष्ठ नेता डॉ संतोष राय ने कहा की मीडिया बिना सोचे समझे किसी भी स्वयंभू व्यक्ति को हिन्दू महासभा का अध्यक्षया अन्य पदाधिकारी ना बताये और ऐसा करना न्यायलय के आदेशों का उल्लंघन है !

हिन्दू महासभा के नाम पर अनेक लोगों ने अपने आपको स्वयम्भू अध्यक्ष घोषित कर रखा है जिसके सन्दर्भ में दिल्ली उच्च न्यायलय में वाद संख्या 745/2014 बाबा नन्द किशोर मिश्र बनाम  दिनेश चन्द्र त्यागी वगैरह लंबित है ! अंतरिम आदेश में माननीय उच्च न्यायलय ने भारत के निर्वाचन आयोग ने किसी भीस्वम्भू अध्यक्ष व्यक्ति को अध्यक्ष मानने से माना कर दिया ! हिन्दू महासभा की संवैधानिक व्यस्था के अंतर्गत तदर्थ कार्यकारिणी कार्य कर रही है जिसके राष्ट्रिय अध्यक्ष आचार्य रमेश मिश्र, राष्ट्रिय कार्यकारी अध्यक्ष बाबा(पं) नन्द किशोर मिश्र,राष्ट्रीय संगठन मंत्री डॉ संतोष राय, राष्ट्रिय महामंत्री आचार्य मदन सिंह एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता अधिवक्ता राकेश आर्य इत्यादि द्वारा संचालित है, न्यायलयके निर्णय के पश्चात यह तदर्थ कार्यकारिणी स्वतः समाप्त हो जाएगी और माननीय न्यायलय के देख-रेख में पुनः संगठन का चुनाव होगा !
श्री कमलेश तिवारी के विरोध में कुछ स्वयम्भू नेताओं द्वारा गलत बयानी कि जा रही है जिसका हिन्दू महासभा अपने शब्दों में घोर निंदा करतीहै, और कमलेश तिवारी कि गिरफ्तारी एवं रासुका लगाने के विरुद्ध हिन्दू महासभा का प्रतिनिधि मंडल उत्तर प्रदेश के माननीय राज्यपाल श्रीराम नाइक जी से मिलने का समय माँगा है ! कमलेश तिवारी पर लगे रासुका को निरस्त कराने के लिए हिन्दू महासभा हर प्रकार का प्रयास करेगी और सड़क से लेकर न्यायलय तक संघर्ष किया जाएगा !

आजम खान द्वारा उत्तर प्रदेश में जेहादिओं को सरंक्षण मिल रहा है और उन्ही जेहादियों ने कमलेश तिवारी कि हत्या करने के लिए अब तक करोड़ों रूपये का इनाम रख दिया है तो क्या उत्तर प्रदेश सरकार आजम खान और अन्य जेहादी तत्वों पर कार्यवाही करेगी जिनके कारण हिन्दुओं में भय का वातावरण बन गया है और यह वातावरण पुरे भारत में भी फ़ैल चुका है ! उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, राजस्थान, कर्नाटक इत्यादि जगहों पर कमलेश तिवारी की सरेआम हत्या करने कि घोषणा कि जा रही है और तो और कईयों ने तो भारत में शरिया के आधार पर ईश निंदा(Bleshphamy) कानून कि मांग कर डाली और ऐसा ही कानून पाकिस्तान में है जहाँ इस कानून का दुरूपयोग गैर-मुसलमानों के विरुद्ध होता है ! क्या यही है सहिष्णुता ? हिन्दू नेताओं द्वारा ईश निंदा के लिए रासुका तो विशेष वर्ग के द्वारा हिन्दू देवी देवताओं को गाली दी जाय तो उन्हें सम्मान तो क्या कहा जाय इसे !

डॉ राय ने कमलेश तिवारी के विषय पर संघ, विहिपऔर भाजपा के समर्थन न देने पर भी निंदा कर डाली और उन्होंने कहा कि ये लोग छद्म हिंदूवादी हैं और हिन्दू महासभाई शुद्ध हिन्दू राष्ट्रवादी हैं और हिन्दू महासभा अपने ही दम ऐसे हिन्दू विरोधी एवं राष्ट्र विरोधी लोगों से निपटना जानती है ! 

इस विषय पर बोलने के लिए प्रत्येक राज्यों के प्रतिनिधियों के नाम व नम्बर निचे दिए गए हैं और यही प्रतिनिधि नामित किये गए हैं
दिल्ली: बाबापंडितनन्दकिशोरमिश्र, Mo. 09868077753
: मुकेशकुमार, Mo. 09810500566
: श्री राकेश आर्य, Mo. 09911169917

मुंबई : डॉ संतोष राय, 09999188800, 08693088800
बंगलुरु: श्री सुब्रमन्यम राजू, Mo. No. 09448450151
: श्री किशोर अग्रवाल,Mo. No. 09481452561

लखनऊ: श्री नैमिष प्रताप सिंह : Mo. No. 09415094838
वाराणसी: अमित सिंह , Mo. No. 09559498110

आन्ध्र प्रदेश : श्री त्रिदंडी श्रीजियर स्वामी जी, Mo. No. 09440363717

 

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .