Home > Features > जवानी कायम रखना हैं तो अपनाएं यें 5 टिप्स !

जवानी कायम रखना हैं तो अपनाएं यें 5 टिप्स !

lifestyle health news hindiSEX करने के इन फायदों से अनजान हैं आप
पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी और नॉर्थ कैरोलाइना यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स के अनुसार महिला और पुरुषों में संबंध बनाने से ऑक्सिटॉसिन हॉर्मोंस का लेबल बढ़ता है, जिससे आपसी संबंधों में मजबूत होते हैं और एक-दुसरे के प्रति विश्वास बढ़ता है।

इस हार्मोन को लव हार्मोन भी कहते हैं। विल्किस यूनिवर्सिटी के साइंटिस्ट्स के मुताबिक हफ्ते में एक या दो बार संबंध बनाने से इम्यूनोग्लॉबिन नाम
आगें पढ़ें !

जवानी : इसे खाने वाले लोग जल्द बूढ़े नहीं होते !
जवानी का बीज है। लंबे समय तक सोयाबीन खाने वाले लोग जल्द बूढ़े नहीं होते। यह एक बेस्ट एंटी एजिंग फूड है। सोयाबीन में प्रोटीन 43 पर्सेंट रहता है। सोया स्नायुओं को शांत रखता है। सोया दूध में लैक्टोज बिल्कुल नहीं होता, इस कारण से बच्चों और डायबिटीज के मरीजों के लिए सोया दूध को वरदान कहा जाता है। सोयाबीन का इस्तेमाल प्रोटीन के रूप में कई बीमारियों में किया जा रहा है। इसमें प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए, बी, डी व ई जैसे तत्व होते
आगें पढ़ें !

शीघ्रपतन, कामशीतलता, कमजोरी तुलसी से करे दूर !
वृक्ष तथा विभिन्न वनस्पतियां धरती पर हमारे जीवन के लिए बहुत उपयोगी हैं। भारतीय संस्कृति में भी प्राचीन समय से ही वृक्षों तथा वनस्पतियों को पूजनीय माना जाता रहा है। विभिन्न वनस्पतियां हमारे स्वास्थ्य की रक्षा में भी सहायक सिद्ध होती ऐसा ही एक छोटा परन्तु बहुत महत्वपूर्ण पौधा होता है तुलसी का। शीघ्रपतन, कामशीतलता, कमजोरी तुलसी से करे
आगें पढ़ें !

26 साल उम्र सेक्स के लिए सबसे बेस्ट
अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में किए गए एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि महिलाएं के सेक्स के लिए सबसे मुफिद साल 26 है. 26 साल के उम्र में महिलाएं सेक्स के दरम्यान ‘पीक’ पर पहुंचती हैं | अध्ययन में कहा गया है कि अगर 26 कि उम्र में महिलाएं सेक्स करती हैं तो वें खुद को सबसे ज्यादा आनंदित महसूस करेंगी. अगर बात पुरूषों के चरमोत्कर्ष की जाए
आगें पढ़ें !

योनि विकारों में बहुत फायदेमंद है गूलर !
गूलर के तने को दूध बवासीर एवं दस्तों के लिए श्रेष्ठ दवा है। खूनी बवासीर के रोगी को गूलर के ताजा पत्तों का रस पिलाना चाहिए। इसके नियमित सेवन से त्वचा का रंग भी निखरने लगता है। हाथ-पैरों की त्वचा फटने या बिवाई फटने पर गूलर के तने के दूध का लेप करने से आराम मिलता है, पीड़ा से छुटकारा मिलता है। गूलर से स्त्रियों की मासिक धर्म संबंधी अनियमितताएं भी दूर होती हैं।
आगें पढ़ें !

लाइफ स्टाइल की लेटेस्ट खबरें पढ़ने के लिए लॉग ऑन करें www.teznews.com 






Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com