Home > Crime > हवस का शिकार बनी 8 महीने की मासूम की जिंदगी खतरे में

हवस का शिकार बनी 8 महीने की मासूम की जिंदगी खतरे में

राजधानी दिल्ली में चचेरे भाई की हवस का शिकार बनी 8 महीने की मासूम अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है। बच्ची का इलाज यहां कलावती अस्पताल में चल रहा है। डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची का तीन घंटे से अधिक समय तक ऑपरेशन चला। ऑपरेशन के बावजूद मासूम की जिंदगी को खतरा बना हुआ है।

बच्ची को देखने पहूंचीं दिल्ली महिला आयोग (DCW) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी बताया की बच्ची की हालत बेहद गंभीर है। स्वाति ने कहा की बलात्कार जैसी घटनाएं दिल्ली में रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। हम चाहते हैं कि बलात्कार के मामले में 6 महीने के अंदर दोषियों को सज़ा का प्रावधान हो। स्वाति ने शासन प्रशासन से अपील की कि बलात्कार के मामले में सख्त कानून बनाएं।

दिल दहला देने वाली यह घटना रविवार दोपहर की है। यहां नेताजी सुभाष पैलेस इलाके में एक बच्ची से उसके ताऊ के बेटे ने ही बर्बरतापूर्वक रेप किया। घटना के वक्त बच्ची के माता-पिता काम के सिलसिले में बाहर गए हुए थे। घटना को अंजाम देने वाला 27 वर्षीय आरोपी सूरज शादीशुदा है और बच्चों का बाप भी है।

पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया है। बच्ची के पिता ने बताया कि रविवार दोपहर हम लोग अपने काम पर गए हुए थे और बच्ची घर में अकेली थी।

इस बीच बच्ची को अकेला देख आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी ने शराब पी रखी थी। पीड़ित बच्ची के पिता मजदूरी का काम करते हैं, जबकि मां घरों में साफ-सफाई का काम करती है। जब बच्ची की मां आई तो उसने देखा बच्ची लगातार रो रही है और वह खून से लथपथ है।

पूछने पर पता चला दिन में बच्ची को चाचा खिला रहा था। पीड़ित बच्ची के पिता ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद मौके पर पहूँची पुलिस ने परिजनों के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है।

बताते चलें कि इसी तरह रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली एक वारदात यूपी के फर्रुखाबाद में सामने आई थी। यहां एक 14 वर्षीय लड़की के साथ उसके अपने पिता और दादा रेप किया करते थे। दोनों आरोपियों ने जब पीड़िता की छोटी बहन को भी अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की, तो वे भागकर अपनी नानी के यहां चली गई थी।

पीड़िता लड़की की नानी ने ही पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। SSP के आदेश पर पिता-पुत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। पुलिस ने पीड़िता के दादा को गिरफ्तार कर लिया था। पीड़िता की मां की मौत हो चुकी थी। पीड़िता की उम्र 14 साल है, जबकि उसकी छोटी बहन 12 साल की है। पिता पिछले दो साल से बेटी का यौन शोषण कर रहा था।

शिकायत में कहा गया कि पीड़िता के पिता ने जब अपनी छोटी बेटी को भी अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की, तो दोनों लड़कियां भागकर अपनी नानी के घर चली गईं। दोनों ने अपनी नानी को जब आपबीती सुनाई, तो उन्होंने आरोपी पिता-पुत्र के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी। इस वारदात ने हर किसी का दिल झकझोर दिया था।

Facebook Comments
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com