Home > State > Delhi > महिलाओं ने खुद अपनी मेहनत से मुकाम बनाया : ज़ाकिया

महिलाओं ने खुद अपनी मेहनत से मुकाम बनाया : ज़ाकिया

पूरी दुनिया मे आधी आबादी हमारी और हमे ही हक़ नही की हम अपनी आजादी से बिना खौफ कहीं भी जा सके अपने लिए रास्ता चुन सके । लेजिन संघर्ष जारी है । खेत से लेकर खेल के मैदानो तक । जमींन से आसमानों तक महिलाओं ने खुद अपनी मेहनत से मुकाम बनाया है । आज हालात उनकी निजी सुरक्षा को लेकर बहुत बिगड़ा है ।

नई दिल्लीः जेडीयू वीमेन विंग दिल्ली की महिला प्रभारी ने अंतराष्ट्रीय महिला दिवस पर फाइट महिला शोषण और रेप के खिलाफ एक मार्च निकाला । इसमें
दिल्ली की उन महिलाओं की बडी भागीदारी रही जिनको ये पता नहीं था कि उनके लिए पूरी दुनिया एक दिवस मनाती है और उनके आहे बढ़ने के सभी रास्ते बनाने का संघर्ष करती है । दिल्ली की महिला प्रभारी ज़ाकिया खान ने अपने उद्भोदन में महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा के बधाई तो दे रही हूँ लेकिन मालूम है कि इस पल भी कहीं न कहीं किसी महिला के खिलाफ अपराध हो रहा होगा।

उसके खिलाफ हमें लड़ते रहना है । दुनिया हमारे लिए आसान नही है आगे बढ़ना तो और भी मुश्किल फिर भी सारी बाधाएं पार कर अपना मुकाम बनाया है आगे भी बनाए जिस देश की माटी में झांसी रानी जन्मी हो उस देश की महिलाएं अपने हक़ की लड़ाई तो लड़ेंगी ही ये पुरुष समाज जान ले औऱ कमजोर समझने की भूल न करें ।

पूरी दुनिया मे आधी आबादी हमारी और हमे ही हक़ नही की हम अपनी आजादी से बिना खौफ कहीं भी जा सके अपने लिए रास्ता चुन सके । लेजिन संघर्ष जारी है । खेत से लेकर खेल के मैदानो तक । जमींन से आसमानों तक महिलाओं ने खुद अपनी मेहनत से मुकाम बनाया है । आज हालात उनकी निजी सुरक्षा को लेकर बहुत बिगड़ा है ।

हर घड़ी हर पल एक महिला शारिरिक हिंसा का शिकार हो रही है , दूध पीती बच्चियां भी सुरक्षित नहीं , उनके साथ दरिन्दगी की सारी सीमा पार कर रेप किया हो रहा। हमे अब हर गली हर शहर अभियान चला के समाज को जगाना और बताना हैं कि हमारे खिलाफ हो रहे अपराध के खिलाफ हम उठ खड़े हैं और हम रोक के रहेंगे तुमहरे अमराधों को ।

हमे हमारा हक़ छीन के लेंगे अब तक 33 फीसदी संसद में आरक्षण का बिल पारित नहीं हुआ उसके बिना हमारी आवाज़ पूरी की पूरी देश की नीति बनाने में नहीं होगी । इसके लिए लड़ना है ।

आखिर क्या वजह है कि पुरूष समाज 33 फीसद आरक्षण के खिलाफ खड़ा है । हमें अब इसको आगे लेकर लड़ाई लड़नी होगी तभी हम महिलाओं के हक़ की नीति बना सकेंगे और देश मे महिला सुरक्षा के सभी प्रयासों में सफल होंगे।

हमारे नेता और बिहार के श्री नीतीश कुमार जी ने बिहार में महिलाओं को 50 फीसदी पंचायत में आरक्षण देकर गाँव गाँव की महिलओं को सबल बनाया जिसको आगे देश के अन्य दूसरे राज्यों ने भी अमल में लाया । उन्होंने शराबबन्दी लागू करके महिलाओं के जीवन को घरेलू हिंसा और उनके घरों को उजड़ने से बचाया ।

हमे ऐसे नेता पर गर्व है और हम सब महिला दिवस के दिन उनका शुक्रिया अदा करते हैं । आज हमें महिला शोषण और रेप के खिलाफ पूरी दिल्ली ही नही बल्कि पूरे देश में अभियान चलाने का प्रण लेना है तभी जाकरुकता के लिए जो आज हम इक्कठे हुए हैं वो सफल होगा और महिला की ज़िंदगी सुरक्षित होगी।

Facebook Comments
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com