समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस भी महागठबंधन के साथ है।

उन्होंने कहा कि यूपी में एक अच्छा महागठबंधन हुआ है। इसमें सपा, बसपा और रालोद के साथ ही कांग्रेस भी शामिल है। अखिलेश यादव ने कहा कि गठबंधन में कांग्रेस को दो सीटें दी गई हैं।

रालोद के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के साथ प्रेस कांफ्रेंस करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि अभी लोकसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा नहीं हुई है। लेकिन जब लोकसभा चुनाव के परिणाम सामने आएंगे तो देश में एक नई सरकार होगी और नया प्रधानमंत्री होगा। उन्होंने कहा कि यूपी में जो महासंगम हुआ है वह मजबूत है।

इस दौरान कांग्रेस में गठबंधन को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कौन कहता है कि कांग्रेस गठबंधन में शामिल नहीं है। सपा, बसपा, रालोद और कांग्रेस के साथ ही तमाम विपक्षी दल महागठबंधन का हिस्सा हैं। गठबंधन में हमने दो सीटें कांग्रेस को भी दी हैं।

जयंत चौधरी ने कहा कि उनकी पार्टी अपने सिंबल पर तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी, लेकिन उनके कार्यकर्ता सभी 80 सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा राष्ट्र, समाज, नौजवानों, एससी समुदाय और किसानों की आवश्यकताओं को देखते हुए जो फैसला सपा और बसपा ने लिया है, उसमें रालोद भी शामिल है। हमारे कार्यकर्ता सभी 80 सीटों पर गठबंधन को जिताने का काम करेंगे।

इस दौरान एयर स्ट्राइक पर आतंकियों के मारे जाने के सवाल को उठाते हुए अखिलेश ने कहा कि पूरा देश जानना चाहता है कि कितने आतंकी मारे गए। शहीद के परिवार वाले भी सबूत मांग रहे हैं। हम सेना पर अंगुली नहीं उठा रहे हैं। हमारी मांग है कि जो भी कुछ हुआ है उसका सबूत देकर सेना का मनोबल बढ़ाना चाहिए। हम किसी पर सवाल खड़ा नहीं करे रहे हैं। देश की जनता सच्चाई जानना चाहती है।

उन्होंने इस दौरान पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को शहीद का दर्जा देने की भी मांग की।

साथ ही अखिलेश यादव ने शहीदों के परिजनों को एक करोड़ रुपए मुआवजा देने की भी मांग भी की। उन्होंने कहा कि जब शहीदों के परिवार को एक करोड़ रुपये मुआवजा नहीं मिल सकता तो रक्षा बजट बढ़ाने का क्या फायदा।