Home > India > अखिलेश की रथ यात्रा: शिवपाल यादव भी रहे मौजूद

अखिलेश की रथ यात्रा: शिवपाल यादव भी रहे मौजूद

akhilesh-yadav-rath-yatraलखनऊ- समाजवादी पार्टी के लिए आज बड़ा दिन है। समाजवादी पार्टी में चल रहे अंदरूनी झगड़ों के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज रथ यात्रा के ज़रिये चुनाव अभियान का आग़ाज़ किया। इससे पहले सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया, वहीं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव भी इस दौरान मौजूद रहे। हालांकि, रथ यात्रा शुरू होने से पहले सपा के कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकी हैं और एक दूसरे को पीटने पर तुल गए थे।

पहले अखिलेश ने दिया भाषण
मंच पर पहुंचे शिवपाल ने सबसे पहले भाषण शुरू किया। इस दौरान शिवपान ने रथ यात्रा के लिए अखिलेश को शुभकामनाएं भी दीं। शिवपाल यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से 5 नवंबर को होने वाले पार्टी के स्थापना दिवस समारोह को भी सफल बनाने का आग्रह भी किया। शिवपाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि 2017 में प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बने।

मंच पर सबसे पहले अखिलेश पहुंचे। उन्होंने लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। इसके बाद वह कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए खड़े हुए। अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में कई बार रथ चले हैं। मुझे खुशी है कि उत्तर प्रदेश में मुझे तीसरी बार रथ चलाने का मौका मिल रहा है।

मुलायम ने की सेना की तारीफ
इस दौरान मुलायम सिंह यादव ने मंच से अपने भाषण की शुरूआत भारतीय सेना की तारीफ से की। मुलायम ने कहा कि भारत के जैसी सेना किसी देश के पास नहीं है। देश की रक्षा करते हुए हमारे सैनिक शहीद हो रहे हैं। अपने उनकी सहादत नहीं भूलनी चाहिए। हालांकि मुलायम ने कहा कि हम पाकिस्तान से युद्ध नहीं चाहते हैं। इस दौरान मुलायम ने जब वह रक्षा मंत्री थे उस अनुभव को भी लोगों से साझा किया।

वहीं इससे पहले सबकी नजर इस बात पर टिकी थी की अखिलेश की रथ यात्रा में चाचा शिवपाल मौजूद रहेंगे या नहीं, लेकिन शिवपाल भी मंच पर मौजूद रहे।

सपा से निष्कासित रामगोपाल यादव के बेटे रथयात्रा में शामिल होने पहुंचे
इस बीच, सपा से निष्कासित रामगोपाल यादव के बेटे व फिरोजाबाद से सांसद अक्षय प्रताप यादव इस रथयात्रा में शामिल होने यहां पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि वह अखिलेश के समर्थन में यहां आए हैं और उन्हें केवल अखिलेश यादव से मतलब है। जनता के लिए उन्होंने काफी काम किया है, इसलिए उनकी रथयात्रा को सफल बनाने के लिए वह यहां पहुंचे हैं। अक्षय यादव ने हालांकि इस बात से इनकार किया कि उनके पिता व राज्यसभा सांसद रागोपाल यादव रथयात्रा में शामिल होंगे.

पिछले दिनों अखिलेश यादव ने कहा था कि दीपावली के अलावा हमारे दो त्योहार और भी हैं। एक 3 नवंबर की रथयात्रा और दूसरा 5 नवंबर का सिल्वर जुबली सेलिब्रेशन। लेकिन यह त्योहार से ज्यादा पार्टी का इम्तिहान भी है। [एजेंसी]




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com