crime newsजयपुर- जयपुर से धरे गए आईएसआईएस एजेंट और आईओएसी के कर्मचारी मोहम्मद सिराजुद्दीन को शुक्रवार को सीजेएम कोर्ट ने 21 दिसंबर तक पुलिस रिमांड के लिए एटीएस को सौंप दिया। जयपुर के जवाहर नगर एन्क्लेव में किराए पर रह रहे आईओसीएल के मार्केटिंग मैनेजर सिराजुद्दीन को बृहस्पतिवार रात गिरफ्तार किया था।

सूत्रों के अनुसार पूछताछ में पता चला है कि राजस्थान के बजाय अन्य प्रदेश व देश के बाहर सिराजुद्दीन के सम्पर्क सामने आए हैं। इसमें सीरिया ही नहीं, अनेक देश हैं, जिनके बड़ी संख्या में संदिग्ध लोग इसके संपर्क में हैं, जो आईएस के सदस्य हैं।

देश में भी कई राज्य के लोगों से इसके संबंध हैं। एडीजी एटीएस आलोक त्रिपाठी ने बताया कि कुछ माह से सिराजुद्दीन आईएस के संपर्क में आया था और सोशल मीडिया पर व वाट्सएप पर ग्रुप बनाकर युवक-युवतियों से संपर्क बना रहा था। उनसे चार माह पहले ही परिवार को अपने मूल निवास कर्नाटक स्थित गुलबर्गा में भेज दिया था। इसके बाद आईएस गतिविधियों में तेजी से सक्रिय हो गया। उसने अपने परिवार को इस बारे में कुछ नहीं बताया था।

बताया जाता है कि सिराज ने अपने साथ सीरिया जाने के लिए कई लड़के लड़कियों को तैयार कर लिया था। इनमें से एक लड़की हैदाराबाद की रहने वाली थी। जो उसके साथ सीरिया जाना चाहती थी। हालांकि पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

उसकी सारी गतिविधि सोशल मीडिया पर ही चलती थी। जहां वह कट्टर विचारधारा से जुड़े युवाओं की तलाश करता और फिर मैसेज भेजकर अपना दोस्त बना लेता। इसके बाद आईएस से जुड़े फोटो और पोस्ट भेजकर उनकी प्रतिक्रिया जानता था।

वहीं आईओसी में उसके साथ काम करने वाले कर्मचारी बताते हैं कि आमतौर पर सिराज चुप ही रहता था। वह ज्यादा किसी से बात नहीं करता था। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसके साथ के ज्यादातर कर्मचारी उसके नाम को भी नहीं पहचानते हैं।-एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here