भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हाल ही में बालाकोट हवाई हमले में मारे गए आतंकियों की संख्या 250 बताई थी। जिसके बाद से उनपर सवाल खड़े होने लगे कि उन्हें ये संख्या किसने बताई है।

इस मामले पर अब शाह का कहना है कि उन्होंने वही बोला जो आम चर्चा है। शाह ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में ये बात कही।

उनसे सवाल किया गया था कि उन्होंने बिना आधार पर मारे गए आतंकियों की संख्या 250 बताई है। कहां से पाया 250 आतंकियों के मरने का आंकड़ा?

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “इसे आप तमाम स्रोतों के जरिए जान सकते हैं। विभिन्न स्तरों पर चर्चा है। मैं सरकार का हिस्सा नहीं हूं। मैंने उसी आधार पर बोला, जो आम चर्चा है।”

“मुझे लगता है कि पाकिस्तान की संसद, मीडिया का रवैया और भारत में 20 से ज्यादा पाकिस्तानी विमानों की घुसपैठ की हिमाकत ने बताया है कि उन्हें गहरा नुकसान हुआ है। आखिर वे 20 लड़ाकू विमान क्यों भेजते? क्या ऐसा पहले कभी हुआ है। यहां तक कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन भी नुकसान की बात कर रहे हैं। केवल हमारा विपक्ष ही है जिसे सबूत चाहिए।”

बता दें अमित शाह ने कहा था कि भारतीय वायुसेना द्वारा पुलवामा आतंकी हमले के बाद की गई एयर स्ट्राइक में 250 आतंकी मारे गए हैं।

उन्होंने यह बात लक्ष्य जीतो कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही थी। उन्होंने बताया था कि केंद्र सरकार ने कैसे आतंक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने शाह के बयान पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था, “एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर का कहना है कि यह कहना जल्दबाजी होगी कि आतंकी शिविरों पर किए गए हवाई हमलों में कितने लोग मारे गए हैं।

अमित शाह का कहना है कि एयर स्ट्राइक में 250 आतंकी मारे गए हैं। क्या यह राजनीति के लिए की गई एयर स्ट्राइक नहीं हैं?”