Home > Election > अमित शाह बोले सपा कांग्रेस गठबंधन भ्रष्टाचारी कुनबों का गठबंधन

अमित शाह बोले सपा कांग्रेस गठबंधन भ्रष्टाचारी कुनबों का गठबंधन

File-Pic

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और उत्तर प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था की बदहाल स्थिति और विकास न होने को लेकर सपा-कांग्रेस गठबंधन पर जम कर प्रहार किया।

पेश है प्रमुख अंश:

प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण के मतदान के जो रुझान सामने आ रहे हैं, उसके आधार पर यह निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि भारतीय जनता पार्टी यूपी में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने जा रही है।

पश्चिमी यूपी में जब चुनाव शुरू हुआ तो लग रहा था कि भारतीय जनता पार्टी की लहर है लेकिन जैसे-जैसे चुनाव पश्चिम से होते हुए पूर्व की ओर आया तो यह स्पष्ट हो गया कि भाजपा की लहर नहीं, सुनामी चल रही है

खनन माफिया को एक बार फिर से टिकट देकर अखिलेश यादव ने यह साबित कर दिया है कि भ्रष्टाचार को ख़त्म करने के प्रति उनका कोई कमिटमेंट नहीं है

कल सर्वोच्च अदालत ने अखिलेश के एक मंत्री के खिलाफ बलात्कार की प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया और उनके एक दूसरे विधायक के खिलाफ बलात्कार और फिर पीड़िता की हत्या का आरोप लगा लेकिन अखिलेश चुप हैं, वे कुछ भी नहीं बोल पा रहे हैं।

यूपी में भाजपा की सरकार बनने पर पूर्वांचल के विकास के लिए पूर्वांचल विकास प्राधिकरण गठित किया जाएगा।

पूर्वांचल में दिमागी बुख़ार दहशत बन चुका है, इससे निबटने के लिए यूपी में बनने वाली भाजपा सरकार विशेष व्यवस्था करेगी, गोरखपुर में शुरू होने वाले एम्स में इसके लिए अलग से एक प्रकोष्ठ बनाया जाएगा।

हमने अपने ‘लोक कल्याण संकल्प पत्र’ के जरिये उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास का खाका खींचा है।

हमने तय किया है कि यूपी में भाजपा की सरकार बनते ही राज्य के सभी लघु एवं सीमांत किसानों के ऋण पूर्णतया माफ़ कर दिए जायेगें, साथ ही कृषि के लिए आगे से उन्हें ब्याज-मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

बुनकर सहित सभी परंपरागत व्यवसाय में लगे लोगों का कौशल संवर्द्धन कर उन्हें राज्य सरकार द्वारा आर्थिक मदद दी जायेगी, साथ ही उनके प्रोडक्ट की मार्केटिंग की व्यवस्था की जायेगी ताकि इनमें लगे लोगों के जीवन स्तर को उठाया जा सके।

सपा और कांग्रेस के बीच जो गठबंधन हुआ है, यह न तो दो दलों का गठबंधन है और न ही दो विचारधाराओं का गठबंधन, वास्तव में यह दो भ्रष्टाचारी कुनबों का गठबंधन है।

कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के साथ ही अखिलेश यादव ने सीधे तौर पर अपनी हार स्वीकार कर ली है, यदि अखिलेश को अपने पांच साल के काम के आधार पर जीत का भरोसा होता तो वह कभी भी कांग्रेस से गठबंधन नहीं करते।

क़ानून-व्यवस्था इस चुनाव का बहुत बड़ा मुद्दा है। चाहे गरीब हों, किसान हों, महिलायें हों, व्यापारी हों – सभी के सभी वर्ग उत्तर प्रदेश में अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। यूपी में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है, हर जगह घोटाले ही घोटाले हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तर प्रदेश को विकास के लिए विभिन्न योजनाओं में करोड़ों रुपये भेजते हैं लेकिन इन पैसों का हिसाब देने में उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी की सरकार विफल रही है।

भारतीय जनता पार्टी जहां-जहां सत्ता में आई है, हर जगह विकास के एक नए युग की शुरुआत हुई है इसलिए मुझे पूरा भरोसा है कि उत्तर प्रदेश की जनता इस बार राज्य में भारतीय जनता पार्टी की दो-तिहाई से अधिक बहुमत की सरकार बनायेगी।

उत्तर प्रदेश में जिस क्षण भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी, उसी क्षण से राज्य में जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण की राजनीति के अंत की शुरुआत हो जायेगी।

प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण के मतदान के जो रुझान सामने आ रहे हैं, उसके आधार पर यह निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि भारतीय जनता पार्टी यूपी में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने जा रही है।
@शाश्वत तिवारी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com