amitabh-thakur-IPSलखनऊ – आईपीएस अमिताभ ठाकुर के खिलाफ गाजियाबाद के अंबेडकर कॉलोनी निवासी महिला ने शनिवार देर रात दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया है। उनपर एससी-एसटी एक्ट और धमकाने संबंधी धाराएं भी लगी हैं।

पीड़ित महिला डीजीपी मुख्यालय गई। वहां से उसे महिला थाने भेज दिया गया। एसओ गोमतीनगर सैयद मोहम्मद अब्बास ने बताया कि महिला व उसके पति ने महिला थाने में शनिवार को अपना बयान दर्ज कराया।

महिला व उसके पति ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि पिछले वर्ष नवंबर में नूतन ठाकुर गाजियाबाद गई थीं। वहां उससे उनकी मुलाकात हुई थी। इसके बाद नूतन ठाकुर ने उसे लखनऊ बुलाया था।

वह अपने पति के साथ 31 दिसंबर को नूतन ठाकुर के घर पहुंची। नूतन ने उसे नौकरी दिलवाने का झांसा देकर अमिताभ ठाकुर के कमरे में इंटरव्यू के लिए भेज दिया। इसके बाद अमिताभ ठाकुर ने उसके साथ दुष्कर्म किया। गोमतीनगर पुलिस ने उसकी रिपोर्ट नहीं दर्ज की।

महिला ने बताया कि उसने 14 जनवरी को राज्य महिला आयोग से शिकायत की। वहां भी सुनवाई नहीं हुई तो उसने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। पर अब तक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ।

महिला का आरोप है कि अमिताभ ठाकुर की तरफ से उसे लगातार धमकियां मिल रही थीं। एसओ अब्बास के मुताबिक मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हालांकि इससे पहले एएसपी ट्रांसगोमती मनीराम यादव कहते रहे कि मामले की जांच पड़ताल की जा रही है। इसके बाद ही मुकदमा दर्ज होगा।

एसओ के मुताबिक मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला उस मुकदमे में भी आरोपी है, जो आईपीएस अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन ठाकुर ने दर्ज कराया है। उस मुकदमे के सिलसिले में भी महिला व उसके पति के बयान लिए जाएंगे।

गौरतलब है कि नूतन ठाकुर ने इसी महिला के मामले में खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष जरीना उस्मानी, सदस्य अशोक पांडेय के खिलाफ इसी मामले में साजिश रचने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here