दिल्ली: मौजपुर में हालात बेकाबू, जाफराबाद में फिर भड़की हिंसा

जाफराबाद में हालात बेहद हिंसक हो गए हैं। चारों ओर से पत्थरबाजी हो रही है। प्रदर्शनकारी कई दुकानों को आग लगाने की कोशिश कर रहे हैं। इसी दौरान गोली बारी भी हो रही है। प्रदर्शन में एक युवक के पैर में और एक पुलिसकर्मी को गोली लग गई।

नई दिल्लीः दिल्ली के जाफराबाद में नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर आज फिर से हिंसा भड़क उठी। सोमवार दोपहर समर्थकों और विरोधियों के बीच एक बार फिर झड़प हुई। दोनों ओर से लगातार फायरिंग हो रही है। वहीं प्रदर्शनकारियों ने तीन गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया है।

जाफराबाद में हालात बेहद हिंसक हो गए हैं। चारों ओर से पत्थरबाजी हो रही है। प्रदर्शनकारी कई दुकानों को आग लगाने की कोशिश कर रहे हैं। इसी दौरान गोली बारी भी हो रही है। प्रदर्शन में एक युवक के पैर में और एक पुलिसकर्मी को गोली लग गई।

मौजपुर इलाके में भी सोमवार को लगातार दूसरे दिन सीएए के समर्थक और विरोधी समूहों के बीच झड़प जारी रही। इस दौरान दो पुलिसकर्मियों समेत 15 लोग घायल हो गए। फिलहाल पुलिस ने मौजपुर जाने के रास्ते को बंद कर दिया है। हालात बेहद तनावपूर्ण बने हुए हैं।

प्रदर्शनकारियों ने एक-दूसरे पर पथराव किया, जिसके बाद उन्हें तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत कराने की भी कोशिश की।

सुरक्षा की दृष्टि से दिल्ली मेट्रो ने जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए हैं। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने ट्वीट किया, ‘‘जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश व निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं। इन स्टेशनों पर ट्रेनें नहीं रुकेंगी।’’

मालूम हो कि मौजपुर में रविवार दोपहर भी सीएए और एनआरसी के समर्थक और विरोधी आपस में भिड़ गए थे। दोनों पक्षों की ओर से एक घंटे तक भारी पत्थरबाजी हुई थी। कल भी पुलिस को आंसू गैस का इस्तेमाल करना पड़ा था।
रविवार को भी हुआ था बवाल

रविवार को पथराव में 12 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे, जिन्हें अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाके में शाम तक तनाव का मौहाल था। मौके पर भारी तादाद में पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है। एहतियात के तौर पर कल भी जाफराबाद के बाद मौजपुर और बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों के एंट्री व एक्जिट गेट भी बंद कर दिए गए थे।

इसके अलावा चांद बाग में भी दो पक्षों में हल्का पथराव हुआ। यहां भी पुलिस को हल्का बल प्रयोग कर हालात निंयत्रित करने पड़े। पुलिस अधिकारियों के अनुसार सीएए-एनआरसी के विरोध में जाफराबाद इलाके में डेढ़ माह से महिलाएं धरने पर बैठी हैं। शनिवार रात ये मेट्रो स्टेशन के नीचे सड़क पर बैठ गई थीं। इससे वहां भारी जाम लग गया था।