सेना किसी भी महिला को उठाकर रेप कर सकती है- कम्युनिस्ट नेता

0
24

केरल के कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) नेता ने भारतीय सेना पर विवादित बयान दिया है। सीपीएम की केरल इकाई के सेक्रेटरी कोडियारी बालाकृष्णन ने कहा कि सेना किसी भी महिला को अगवा कर सकती है और उसका बलात्कार कर सकती है। सीपीएम नेता के बयान पर विपक्षी दलों ने कड़ा एतराज जताया है। सीपीएम नेता ने केरल में एक जनसभा ये विवादित बयान दिया।

सीपीएम नेता ने कहा, “अगर सेना कन्नूर में आती है तो उसका जनता से संघर्ष होगा।” सीपीएम नेता ने कहा, “वो (सेना) कुछ भी कर सकते हैं। अगर वो चार लोगों को एक साथ खड़ा देखेंगे तो उन्हें गोली भी मार सकते हैं।” सीपीएम नेता ने कहा, “वो (किसी) भी महिला को उठा सकते हैं और उसके साथ बलात्कार कर सकते हैं। किसी के पास उनसे सवाल करने का अधिकार नहीं है। सेना की यही हालत है।”

केरल का कन्नूर पिछले कुछ समय से राजनीतिक हिंसा का शिकार रहा है। कन्नूर जिले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस), भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और सीपीएम के कई कार्यकर्ताओं की मौत हो चुकी है। केरल में सीपीएम के नेतृत्व वाली लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) की सरकार है। आरएसएस और बीजेपी हिंसा के लिए सीपीएम सरकार को दोषी ठहराते रहे हैं। जबकि सीपीएम इससे इनकार करता रहा है।

बीते दिनों केरल के राज्यपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) पी. सदाशिवम ने केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन को राजनीतिक रूप से अशांत कन्नूर जिले में फैली गुंडागर्दी, हिंसा और हत्या और घटनाओं पर फौरन लगाम लगाने का निर्देश दिया था। राजभवन में 3 सदस्यीय बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन सौंप कर कन्नूर में हुई आरएसएस पदाधिकारी बिजू की हत्या पर कार्रवाई की मांग की थी। राज्यपाल ने ज्ञापन मुख्यमंत्री के पास भेजते हुए उनसे ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिए फौरन आवश्यक कार्रवाई करने को कहा था।

बता दें कि केरल में पिछले साल हुए विधान सभा चुनाव में राज्य की कुल 140 सीटों में से वाम गठबंधन ने 91 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं कांग्रेस गठबंधन यूडीएफ ने 40 सीटें जीती थीं। वाम दलों की भारी जीत के बाद पी विजयन राज्य के मुख्यमंत्री बने। केरल में हुए पिछले विधान सभा चुनाव में पहली बार भाजपा कोई सीट जीतने में सफल रही। भाजपा के वरिष्ठ नेता ओ राजगोपाल केरल के नेमम सीट से चुनाव जीते थे। @एजेंसी