सेना ने स्वीकार की गलती कहा भविष्य में नहीं होगी ऐसे घटना - Tez News
Home > India News > सेना ने स्वीकार की गलती कहा भविष्य में नहीं होगी ऐसे घटना

सेना ने स्वीकार की गलती कहा भविष्य में नहीं होगी ऐसे घटना

Army takes responsibility for Budgam firing in J&K, says will ensure such incidents do not reoccurश्रीनगर [ TNN ] जम्मू कश्मीर के बडगाम जिले में सेना की गोलीबारी में दो युवको के मारे जाने की जिम्मेदारी लेते हुए सेना ने शुक्रवार को इसमे अपनी गलती स्वीकार की है। सेना की उत्तरी कमान के जीओसी लेेफ्टिनेंट जनरल डी.एस.हुड्डा ने पत्रकारों से कहा कि घटना में लोगों के मारे जाने पर हमे गहरा अफसोस है। मृतकों के परिजनो के प्रति हम गहरी संवेदना व्यक्त करते है।

उन्होंने कहा कि यदि जांच में गैर कानूनी ढंग से गोलीबारी किए जाने की पुष्टि होती है तो इस मामले को कड़ाई से निपटाया जायेगा। सेना जांच में पुलिस के साथ पूरा सहयोग करेंगी। लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा ने गोलीबारी में मारे गये युवकों के परिजनों को 10 लाख रूपये और घायलों को पांच लाख रूपए का मुआवजा दिये जाने की घोषणा भी की।

लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा ने कहा कि हम यह सुनिश्चित करेंगे कि भविष्य में इस तरह की घटना ना हो। उन्होंने कहा कि सफेद मारूती कार में आतंकवादी गतिविधि के बारे में सूचना थी। यह मामला गलत पहचान का है और हम अपनी जिम्मेदारी स्वीकार करते है। गौरलतब है कि गत तीन नवम्बर की शाम को बडगाम जिले में सेना के जवानों ने एक वाहन के चेकिंग पोस्टों पर नहीं रूकने पर गोलियां चलायी थी जिसमें दो लोग मारे गये और दो अन्य घायल हो गये थे। एक वाहन में आतंकवादियों की गतिविधियों की खुफिया जानकारी मिलने पर सेना ने तीन मोबाइल चेकिंग पोस्ट स्थापित किए।

तीन नवंबर की शाम जब ऎसी ही एक सफेद मारूती कार पहले चेकिंग पोस्ट के पास पहुंची तो उसे रूकने का संकेत दिया गया लेकिन उसने इसकी अनदेखी की। दूसरे पोस्ट पर भी उसे रूकने का इशारा किया गया लेकिन कार वहां से भी निकल गयी। छतरगाम स्थित तीसरे पोस्ट पर भी जब यह गाड़ी नहीं रूकी तो सेना के जवानों ने कार पर गोलियां दाग दी। गोलीबारी में वाहन में सवार सभी चार लोग घायल हो गये। उन्हें तत्काल आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनमें से दो लोगों की मौत हो गयी।

सेना गोलीबारी की इस घटना की पहले ही कोर्ट आफ इंक्वायरी के आदेश दे चुकी है और इस घटना में शामिल सभी सैनिकों से पूछताछ की जा रही है। जम्मू कश्मीर पुलिस ने इस सिलसिले में एक प्राथमिकी दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने केन्द्रीय गृहमंत्री अरूण जेटली से बात की है और जेटली ने इस घटना की जांच में पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया है। सभी अलगाववादी संगठनों और मुख्य धारा की राजनीतिक पार्टियों ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए सैनिकों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है।

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com