kripal-singh-asaram-caseबरेली – दुष्कर्म के आरोप में फंसे  आसाराम के केस के मुख्य गवाह कृपाल सिंह की शनिवार रात मौत हो गई। उन्हें शुक्रवार रात घर लौटते समय अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारी थी। हालत बिगड़ने पर उन्हें शुक्रवार देर रात ही बरेली के मिशन हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया था, जहां उनकी मौत हो गई।

कृपाल की पीठ में गोली मारी गई थी, जिससे उनकी रीढ़ की हड्डी क्षतिग्रस्त हो गई थी। इसी के चलते घटना के तत्काल बाद उनके दोनों पैरों ने काम करना बंद कर दिया था। उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी और वह वेंटिलेटर पर थे। मृत्यु पूर्व बयान में उन्होंने आसाराम के तीन गुर्गों पर हमले का शक जताया था, जो उन्हें कई बार धमकी दे चुके थे। आसाराम मामले से जुड़े यह तीसरे गवाह की हत्या है।

इससे पहले बरेली के मिशन हॉस्पिटल में भर्ती कृपाल की गोली निकाली जा चुकी थी, मगर उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। शनिवार को आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बरेली और लखनऊ में छापेमारी की गई।

कृपाल सिंह को मारने आए बदमाश शुक्रवार को उसके पीछे लगे हुए थे। बाइक पर पीछे बैठा एक बदमाश तमंचे को रुमाल से ढके सही वक्त का इंतजार करते कृपाल के पीछे चल रहा था। ग्वालटोली टोली चौराहा के निकट बदमाश ने गोली दाग दी जो आगे के बाइक सवार अजय यादव को छूती हुई कृपाल को जा लगी। चश्मदीद अजय यादव ने शनिवार को जागरण को बताया कि वह दुकान से अपने घर लौट रहा था, तभी यह घटना घटी। जख्म पर तौलिया लपेटकर खून का बहाव रोकने की कोशिश की गई। पुलिस के आने पर करीब आधा घंटे बाद कृपाल अस्पताल पहुंच सके।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here