आसाराम ने की थी कृपाल सिंह को खरीदने की कोशिश - Tez News
Home > India News > आसाराम ने की थी कृपाल सिंह को खरीदने की कोशिश

आसाराम ने की थी कृपाल सिंह को खरीदने की कोशिश

Asaramलखनऊ – दुष्कर्म मामले में घिरे आसाराम के लिए मुसीबतें और बढ़ सकतीं हैं। अब शाहजहांपुर पुलिस को जोधपुर बलात्कार कांड के गवाह कृपाल सिंह (मृतक) के बीच बातचीत का एक चौंकाने वाला टेप मिला है। इस टेप को लेकर दावा किया गया है कि गवाह को मुंह बंद रखने के लिए आसाराम कह रहा है। इतना ही नहीं वह गवाह को खरीदने की कोशिश भी की गई थी।

शाहजहांपुर के एसपी बबलू कुमार ने पुष्टि की है कि रेप पीड़िता के पिता ने टेप की ऑडियो क्लिप ने उन्हें दी है। टेप की सत्यता जांचने के लिए आगे की कार्रवाई की जा रही है। यदि टेप की सत्यता की पुष्टि हो गई तो इसे जांच का हिस्सा बनाया जाएगा। टेप की आवाज का मिलान पहले रिकॉर्ड किए गए आसाराम के आवाज से किया जाएगा। पीड़िता के पिता का दावा है कि यह विवादास्पद बातचीत आठ माह पहले रिकॉर्ड की गई थी।

आपको बता दें कि दस जुलाई को शाहजहांपुर में गवाह कृपाल सिंह को बाइक सवारों ने गोली मार दी थी, जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। कृपाल सिंह के परिजनों ने उसकी मौत के बाद आरोप लगाया था कि यह हत्या आसाराम के आदमियों ने की है। उन्होंने मामले की गहन जांच की भी मांग की थी।

रेप केस में कृपाल सिंह ने दो माह पहले जोधपुर की अदालत में अपना बयान दर्ज कराया था। लड़की के पिता का दावा है कि इस ऑडियो क्लिप में आसाराम गवाह कृपाल सिंह को धमकाने और ललचाने के अंदाज में कह रहा है कि उसे मोटी रकम मिलेगी। आधा पैसा एडवांस में मिल जाएगा और बाकी काम होने के बाद दिया जाएगा।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार, कृपाल से बातचीत के लिए आसाराम के दो गुर्गों राघव और संजय ने कोशिश की थी। इन लोगों ने ही कृपाल सिंह से आसाराम की बातचीत करवाई थी। कृपाल सिंह के परिजनों ने राघव व संजय पर ही कृपाल की हत्या करने का आरोप लगाया है।

पीड़िता के पिता ने बताया कि कृपाल सिंह ने आसाराम और अपनी बातचीत को मोबाइल पर रिकॉर्ड कर लिया था। उन्होंने बताया कि आसाराम के ये दोनों गुर्गे कृपाल सिंह के घर गए और उससे बोले कि आसराम उससे बात करना चाहते हैं। संजय ने एक नंबर मिलाया और कृपाल ने मोबाइल पर सारी बातचीत को रिकॉर्ड कर लिया। इन लोगों को शायद मालूम नहीं था कि बापू की यह सारी बातचीत टेप हो गई है।

पीड़िता के पिता ने दावा किया कि कृपाल सिंह ने यह क्लिप उन्हें यह कहते हुए सौंपी थी कि सबूत के तौर पर यह बाद में काम आएगा। इसके साथ ही यह भी साबित हो जाएगा कि कि आसाराम जेल में भी मोबाइल से बातचीत करने में सक्षम है।

 

 

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com