Home > Crime > नहीं आए अच्छे दिन ,दिल्ली में घटा एक और निर्भया कांड

नहीं आए अच्छे दिन ,दिल्ली में घटा एक और निर्भया कांड

womenनई दिल्ली [ TNN ]16 दिसंबर की निर्भया जैसी निर्दयता दिल्ली पर एक बार फिर दाग लगा गयी। असम की रहने वाली तीस साल की महिला के साथ दरिंदगी का वो आलम सामने आया है जो आपको हैरान करके रख देगा।

बलात्कार के इस मामले में आरोपियों ने सारी हदें पार कर दी। इस बार भी दिल्ली में वही सब दोहराया गया जो दिल्ली ने निर्भया के मामले में देखा था। आरोपियों ने पहले तो महिला के साथ बलात्कार किया और फिर बाद में उसके निजी अंगों में लकड़ी की एक छड़ी डाल दी।

पुलिस के मुताबिक 8 नबंवर को महिला के साथ जिन आरोपियों ने इस क्रूर घटना को अंजाम दिया था वो महिला के पड़ोसी थे। पुलिस ने आरोपियों को उनके घर से गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। पेशी के बाद चारो आरोपियों को चौदह दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

मामले की जांच बताती है कि आरोपियों में शामिल पवन नाम का एक व्यक्ति पिछले कुछ महीनों से इस क्षेत्र में रह रहा था। चारों को इस महिला की इस बात से एतराज था कि वो पति की मौत के बाद उसका इलाके के किसी दूसरे व्यक्ति से संबंध था।

पुलिस के मुताबिक 8 नवंबर को चारो आरोपी जबरदस्ती महिला के घर में घुस आए, और उसे गालियां देने लगे। जब महिला ने इस बात से एतराज जताया तो आरोपियों ने उसकी पिटाई कर दी, और फिर इन चारों ने महिला के साथ गैंगरेप किया।

पीड़िता के चिल्लाने पर आरोपियों ने सारी हदें पार कर दीं और निर्दयतापूर्वक उसके निजी अंगों में लकड़ी की एक छड़ी डाल दी। घटना का जिक्र किसी से ना करने की धमकी देकर चारों घटनास्थल से वहां से फरार हो गए।

घटनास्थल के पास से गुजर रहे एक व्यक्ति ने जब महिला के रोने की आवाज़ सुनी तो उसने पुलिस को सूचना दी। महिला के द्वारा दिये गये बयान के आधार पर चारों आरोपियों के खिलाफ 376, 506, और 452 धाराओं में मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है।

घटना के तुरंत बाद महिला को पहले संजय गांधी हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया, और फिर बाद में उसे बाबू जगजीवन राम हॉस्पीटल रेफर कर दिया गया। फिलहाल पीड़िता को 6 दिन के बाद हॉस्पीटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है और उसकी काउंसलिंग की जा रही है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com