Home > Election > समझाने से नहीं, बहकाने से मिलते हैं वोट : अखिलेश यादव

समझाने से नहीं, बहकाने से मिलते हैं वोट : अखिलेश यादव

लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में सपा-कांग्रेस गठबंधन की करारी हार पर अखिलेश यादव ने कहा है कि वह जनता के फैसले को स्वीकार करते हैं और उम्मीद जताते हैं कि नई सरकार बेहतर काम करेगी। अखिलेश ने कहा कि नई सरकार के गठन के बाद पहली कैबिनेट बैठक के बाद जो निर्णय आएंगे, उसका हम सबको इंतजार रहेगा. किसानों का कर्ज माफ हुआ तो बहुत खुशी होगी।

बसपा प्रमुख मायावती द्वारा ईवीएम पर उठाए गए सवाल को लेकर अखिलेश ने कहा कि सरकार को इसकी जांच करानी चाहिए। अखिलेश ने कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन जारी रहेगा, इस गठबंधन से हमें लाभ हुआ। इस गठबंधन के जरिये दो युवा नेता साथ आए। अखिलेश ने कहा कि हमने यूपी के विकास के लिए काम किया, जब तक कोई हमसे अच्छा काम करके नहीं दिखाता, तब तक हमारा काम जरूर बोलेगा।

अखिलेश ने कहा, पूरे चुनाव में मुझे नहीं लगा कि ऐसा होगा। मेरी सभाओं में भारी भीड़ उमड़ती थी। पता नहीं क्या हुआ। उन्होंने टीस भरे अंदाज में कहा, गरीब को अक्सर पता ही नहीं होता कि वह क्या चाहता है। किसान को पता ही नहीं होता कि उसे क्या मिलने जा रहा है। मैं समझता हूं कि जनता कुछ और सुनना चाहती रही होगी। जनता को अगर एक्सप्रेस-वे नहीं पसंद आया तो शायद उसने यूपी में बुलेट ट्रेन के लिए वोट दिया हो।

उन्होंने कहा, जनता को लगता होगा कि जो सरकार बनेगी वह 1000 रुपये महीने से ज्यादा पेंशन देगी। हमने किसानों का 1600 करोड़ रुपये कर्ज माफ किया था। अब लगता होगा कि भाजपा की पहली कैबिनेट बैठक में यूपी के किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा, इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या होगी।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com