Home > Lifestyle > Health > महिला कलेक्टर ने दिलवाई अधिकारीयों से ‘नशा मुक्ति’ की कसम !

महिला कलेक्टर ने दिलवाई अधिकारीयों से ‘नशा मुक्ति’ की कसम !

mandla collectorमंडला- गत दिवस अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस पर जिला योजना सभागार में सामाजिक न्याय विभाग के द्वारा कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में जिला पंचायत अध्यक्ष संपतिया उइके,जनपद अध्यक्ष पांचो बाई, नगरपालिका उपाध्यक्ष नरेश कछवाहा, कलेक्टर प्रीति मैथिल, अपर कलेक्ट एसएस बघेल एवं सभी विभाग के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे। कला पथक दल के द्वारा नशा मुक्ति के गीत गाए गए।

संपतिया उइके ने कहा कि नशा करने वाला धीरे धीरे जीवन के अंत की ओर बढ़ने लगता है। इसलिए मौत के घाट में लोग न जाएं। इसके लिए शासन प्रशासन सजग रहे। प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री इस अभियान के प्रति सजग हैं। सहायक आयुक्त से कहा कि सभी छात्रावास में नशा से होने वाले नुकसान के बारे में सभी बच्चों को जानकारी दें। साथ ही नशा मुक्ति का संकल्प दिलाएं। विकासखंडों में भी कैंप लगाकर जागरूक करेें।

कलेक्टर प्रीति मैथिल ने यहां कहा कि नशा सामाजिक बुराई है, इससे आर्थिक, सामाजिक, शारीरिक और मानसिक क्षति होती है  नशा करने वाले लोग डिप्रेशन का शिकार हो जाते हे; कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां घेर लेती है; नशा छोड़ने के कई फायदे है; इसे समझाना आवष्यक है; नशे के कुप्रभाव से लोगों को अवगत कराएं। लत जो होती है बुरी होती है। पहले लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती थी। अब लोगों में वह कम हो गई है। जिसके चलते लोग रोग का जल्द शिकार हो जाते हैं। नशा करने वाले व्यक्ति को समझाईश दी जाए। उसे सलाह की जरूरत होती है। कोई भी नशा करना नहीं चाहता। लेकिन लत बन जाने से उसे छुड़ाने में संकल्प शक्ति की जरूरत होती है। इसके लिए अब जिले में नशा मुक्ति केंद्र खोलने की आवश्यकता है।

जनपद अध्यक्ष पांचो बाई ने कहा हम सभी शासन प्रशासन से मिलकर इस अभियान को सफल बनाएं। नपा उपाध्यक्ष नरेश कछवाहा ने कहा कि संकल्प कोरी भावना न रह जाए। इसे मूर्त रूप देना चाहिए। जिले में बोनफिक्स से प्रभावित आज भी लगभग 50 बच्चे पीडि़त हैं। जिनके बारे में हमें कुछ करना है। डाक्टर विजय मिश्रा ने नशे से होने वाली बीमारियों के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि जब नशा करने वाला व्यक्ति परेशान हो तो उसे समझाया जाए। संकल्प लेकर नशा छोड़ने वाला व्यक्ति इसी तरह अन्य को भी प्रेरणा दे तो यह समाज के लिए एक बड़ा योगदान होगा। स्काउट गाइड प्रभारी दिनेश दुबे ने कहा कि हम अपनी देह के स्वामी है। लेकिन नशा के दास। कविता के माध्यम से नशा किस तरह व्यक्ति के जीवन बरबादी के कगार पर ला सकता है। इस विषय में बताया। अंत में आभार उपसंचालक सामाजिक न्याय अमित कुमार सिंह द्वारा किया गया।
कलेक्टर दिलाई शपथ

इस दौरान कलेक्टर प्रीति मैथिल ने अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस पर सभी को संकल्प दिलाया कि मद्यपान शारीरिक आर्थिक तथा नैतिक पतन का कारण है। मेरा विश्वास है कि मद्य निषेध सामाजिक उत्थान एवं मानव स्वास्थ्य के लिए अति आवश्यक है। मै यह संकल्प लेता हू कि आज से शराब अथवा नशीली वस्तुओं का सेवन नहीं करूंगा।

रिपोर्ट- @सैय्यद जावेद अली

महिला कलेक्टर ने दिलवाई अधिकारीयों से ‘नशा मुक्ति’ की कसम !

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .