राम मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद: किन्नर की पहल

0
1

मैंने इस व्रत को इसलिए रखा है कि अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का जब निर्णय आए तो मंदिर का निर्माण शांतिपूर्ण और अमन-चैन के साथ हो और देश में खुशहाली हो।

राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवादित जमीन पर सुप्रीम कोर्ट से फैसला अभी आना है। लेकिन मन्नतों का दौर प्रारंभ हो गया है। बलिया में किन्नर अनुष्का चौबे अन्नू ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर के लिए छठ का व्रत रखा। शनिवार को उन्होंने डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया। रविवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद वह अपनी इस मनोकामना के लिए सूर्य भगवान से प्रार्थना भी की ।

डाला छठ का कठिन व्रत महिलाएं अपने परिवार की मंगलकामना और मन्नत पूर्ण होने के लिए करती हैं। बलिया की किन्नर अनुष्का (अन्नू) के इस बार के व्रत की मन्नत सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद देश में शांति, सद्भाव के बीच मंदिर निर्माण के लिए है।

अन्नू ने एनबीटी को बताया, ‘यह व्रत अपने आप में कठिन था । मैंने इस व्रत को इसलिए रखा है कि अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का जब निर्णय आए तो मंदिर का निर्माण शांतिपूर्ण और अमन-चैन के साथ हो और देश में खुशहाली हो।

अन्नू ने आगे कहा, भारत में हर धर्म के लोग रहते हैं। शांति का प्रतीक भारत बने यही व्रत का मुख्य उद्देश्य है। किन्नर समाज ने इस कठिन व्रत को रखने के साथ देश में जातिगत राजनीति को खत्म करने के लिए प्रार्थना की।

किन्नर अन्नू चौबे ने बताया कि 36 घंटे के निर्जला उपवास के बाद शनिवार की शाम को डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ रविवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद व्रत पूरा किया ।