Home > Election > सभा में खाली कुर्सियां देख भाजपा सांसद के छलक पड़े आंसू

सभा में खाली कुर्सियां देख भाजपा सांसद के छलक पड़े आंसू

उत्तर प्रदेश में भाजपा 74 से अधिक सीटें जीतने का वादा कर रही हैं लेकिन जमीनी हालात कुछ अलग नजर आ रहे हैं।

क्षेत्र की सांसद की सभा हो और उसमें प्रदेश अध्यक्ष मुख्य अतिथि हो और भीड़ न जुटे तो क्षेत्र में पार्टी की जीत की संभावना पर सवाल तो खड़े होने ही हैं।

ऐसा ही नजारा था आजमगढ़ की सांसद नीलम सोनकर की सभा का जहां भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे।

सभा में कुर्सियां खाली थीं जबकि लोग बहुत कम संख्या में नजर आ रहे थे। इस बीच मंच प्रदेश के कई दिग्गजन नेताओं की बीच बैठीं सांसद अपने आंसू नहीं रोक सकीं।

सांसद सोनकर ने कई बार अपने आंसू रोंकने की कोशिश की लेकिन वो अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पा रहीं थी। सांसद ने पानी पिया और रूमाल से अपने आंसू भी पोंछे।

सांसद की जनसभा में भीड़ जुटाने के लिए आयोजकों की तरफ से कई प्रयास किए गए थे बावजूद इसके कुर्सियां खाली ही रहीं।

शनिवार को अंबारी जिले में आयोजित इस सभा में मनोरंजन के लिए डांसर की भी व्यवस्था की गई थी लेकिन ये प्रयास भी बेअसर रहा।

जनसभा में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय के अलावा भाजपा महिला मोर्चा की उपाअध्यक्ष सीमा द्विवेदी, यूपी सरकार के मंत्री दारा सिंह चौहान, कई बड़े नेता मौजूद थे। अंबारी की इस सभा के लिए कई दिन पहले ही तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा था।

जनसभा में भीड़ जुटाने के लिए पार्टी के नेताओं ने ब्लाक के साथ ही गांव-गांव जाकर भी लोगों से संपर्क किया था लेकिन नतीजा ढाक के तीन पात ही रहा।

जनसभा में कम से कम 1000 लोगों के जुटने का अनुमान व्यक्त किया गया था लेकिन महज 100 से 150 लोग ही कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम में जब प्रदेश अध्यक्ष पहुंचे तब तक भीड़ बढ़ने की बजाय पहले से भी कम हो गई।

इस पूरी स्थिति के बीच सांसद की आंखों में आंसू आ गए। इस पूरे माहौल के बीच भी भाजपा के नेता अपने भाषणों में मोदी लहर और प्रदेश में पार्टी की जीत का दावा कर के गए।

इससे पहले सपा-बसपा के बीच हुए गठबंधन के तहत यह सीट बसपा के खाते में गई है। बसपा ने इस सीट से संगीता आजाद को मैदान में उतारा है। इस सीट पर छठे चरण में 12 मई को मतदान होगा।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com