Home > Sports > Badminton > बैडमिंटन लीग के फाइनल में किंगफ़िशर किंग्स का कब्जा

बैडमिंटन लीग के फाइनल में किंगफ़िशर किंग्स का कब्जा

Badminton League final win Kingfisher Kingsमंडला – बुधवार की देर रात तक चले कशमकश, संघर्षपूर्ण, तनाव और रोमांच से भरे मंडला बैडमिंटन लीग के फाइनल में किंगफ़िशर किंग्स ने लगातार सात जीतों के साथ अपनी बादशाहत कायम रखते हुए चमचमाती ट्रॉफी पर कब्ज़ा किया। अपना विजय रथ जारी रखते हुए किंगफ़िशर ने खिताबी मुकाले में गोल्डन फेदर को शिकस्त देकर मंडला बैडमिंटन लीग के खिताब पर कब्जा किया। यह फाइनल आखरी पॉइंट तक उत्तेजना से भरा रहा। फाइनल मुकाबले में किंगफ़िशर 4 के मुकाबले 3 मैच जीतकर न केवल बढ़त पर थी बल्कि एक और जेट के साथ वो चैंपियन बनने जा रही थी। इस मुकाबले के पहले गेम में गोल्डन फेदर के खिलाडी शेखर कांसकार और मोहन भंडारी ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए जीत हासिल की तो वही दूसरे गेम में किंगफ़िशर के शशांक लालवानी और शैलेन्द्र मिश्रा ने जोरदार वापसी करते हुए जीत हासिल कर मैच को बराबरी पर ला दिया। तीसरे और निर्णायक गेम में गोल्डन फेदर शुरूआती बढ़त के बावजूद खेल पर पकड़ नहीं बना सकी और किंगफ़िशर का ग्यारवाँ और मैच पॉइंट बनते ही किंगफ़िशर खेमा खुशियों से झूम उठा और जश्न में डूब गया। इस जीत के साथ ही किंगफ़िशर ने न केवल खिताबी जीत हासिल की बल्कि उसने इस प्रतियोगिता में अपना अजय रहने का कीर्तिमान भी बनाये रखा। पुरूस्कार वितरण के साथ करीब एक पखवाड़े तक चली इस प्रतियोगिता का समापन हुआ। पुरूस्कार वितरण समारोह के बाद केक काटकर सभी खिलाडियों ने एमबीएल की सफलता का जश्न मनाया।
प्रदेश या राष्ट्रीय स्तर के आयोजन के लिए नपा देगी 5 लाख –
मंडला बैडमिंटन लीग के समापन अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष अनिल बाबा मिश्रा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला बैडमिंटन एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष प्रदीप खरबंदा की। इस मौके पर जिला बैडमिंटन एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अविनाश गोयल और आलोक खरया बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद थे। अपने उद्बोदन में नगर पालिका अध्यक्ष अनिल बाबा मिश्रा  ने शानदार आयोजन के लिए जिला बैडमिंटन एसोसिएशन व टीम एमबीएल को बधाई दी। उन्होंने कहा कि पूरे अनुशासन में रहते हुए खिलाडियों ने बेहतर खेल कौशल का प्रदर्शन किया। उन्होंने घोषणा की कि यदि वर्तमान परिषद का कार्यकाल पूर्ण होने के पहले जिला बैडमिंटन एसोसिएशन कोई प्रदेश या राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता आयोजित करतीहै तो नगर पालिका उसके लिए 5 लाख रूपये प्रदान करेगी।
जताया सभी का आभार –
अध्यक्षीय उद्बोदन में एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष प्रदीप खरबंदा ने शानदार आयोजन के लिए एसोसिएशन व टीम एमबीएल के पदाधिकारियों व सदस्यों को बधाई दी। जिला बैडमिंटन एसोसिएशन के सचिव चंद्रेश खरे ने मुख्य अतिथि, अध्यक्ष, विशिष्ट अतिथि, नगर पालिका परिषद, खेल एवं युवक कल्याण विभाग, खिलाड़ियों, खेल प्रेमियों, मीडिया सहित उन सभी लोगो के प्रति आभार ज्ञापित किया जिन्होंने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से एमबीएल के सफल सञ्चालन में उल्लेखनीय योगदान दिया है।
इन्होंने हासिल की जीत –
किंगफ़िशर किंग्स को खिताबी जीत दिलाने में भावेश गोहिल, मनोज फगवानी व सिद्धार्थ पटेल, सौरभ खरबंदा व शैलेश मिश्र, , सौरभ खरबंदा व शशांक लालवानी और शशांक लालवानी व शैलन्द्र मिश्र की जीत का एहम योगदान रहा। गोल्डन फेदर की तरफ से चंद्रेश खरे व डॉ. रितेश गुप्ता, डॉ. प्रवीण उइके व कुशाग्र चौबे और चंद्रेश खरे व कुशाग्र चौबे की अजेय जोड़ी ने अपने – अपने मैच जीतकर अपनी टीम को अंत तक मुकाबले में बनाये रखने की भरसक कोशिश की। एमबीएल 2017 की उपविजेता टीम गोल्डन फेदर और विजेता टीम किंगफ़िशर किंग्स को अतिथियों द्वारा शानदार ट्रॉफी प्रदान की गई।  दोनों ही टीम्स ने अपने ओनर्स, कप्तान, ख़िलाड़ी और समर्थकों के साथ मंच में पहुंचकर ट्रॉफी हासिल की।
चंद्रेश व कुशाग्र बने जोड़ी ऑफ़ द टूर्नामेंट –
मंडला बैडमिंटन लीग की सबसे चर्चित और सफल जोड़ी चंद्रेश खरे व कुशाग्र चौबे को पूरी प्रतियोगिता के दौरान अपराजित रहने के लिए बेस्ट जोड़ी ऑफ़ द टूर्नामेंट के खिताब से नवाज़ गया। चंद्रेश खरे उम्र के लिहाज से जहाँ प्रतियोगिता के सबसे वरिष्ठ खिलाडी रहे तो वही उनके 15 वर्षीय पार्टनर कुशाग्र चौबे सबसे जूनियर। बेस्ट जोड़ी का एक और अवार्ड डॉ. प्रवीण उइके और कुशाग्र चौबे को प्रदान किया गया। इंस्पिरेशन प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट का अवार्ड सीईओ जिला पंचायत डॉ. जे विजय कुमार को प्रदान किया गया। उत्कृष्ट बैडमिंटन फोटोग्राफी और प्रतियोगिता के सुचारू संचालन में उल्लेखनीय योगदान के लिए फोटो जर्नलिस्ट संतोष तिवारी को सम्मानित किया गया।
टीम ओनर्स का हुआ सम्मान – 
एमबीएल के समापन समारोह के दौरान चैलेंजर्स सेवन की ओनर्स श्रीमती मृदुला काल्पीवार व श्रीमती सरिता अग्निहोत्री, महिष्मति मास्टर्स के ओनर्स नरेन्द्र सिहारे, संजय तिवारी, अजय खोत और पंकज मोदी, रॉयल सरदर्स के ओनर्स अनूप जायसवाल, संतोष पाण्डेय, अमृतपाल सिंह और संकेत अग्रवाल,  फ़ास्ट फ्रेंड्स के ओनर्स मृणाल पाठक, अविनाश गोयल और मुकेश जैन, उपविजेता टीम गोल्डन फेदर के ओनर्स डॉ सुनील यादव, डॉ प्रवीण उइके, प्रशांत ठाकुर व प्रसन्न सराफ और चैंपियन टीम किंगफ़िशर किंग्स के ओनर्स  अधिवक्ता मनोज फागवानी, अधिवक्ता आलोक खरया और अधिवक्ता आनंद राय को स्मृति चिंह भेट कर सम्मानित किया गया।
जूनियर्स भी हुए पुरुस्कृत –
एमबीएल के समापन के साथ ही 41वी जूनियर बैडमिंटन रैंकिंग टूर्नामेंट के विजेताओं को भी पुरुस्कृत किया गया। 10 साल से कम आयु वर्ग के प्रतिभागियों में अनुज कुशवाहा, दिवांशु सराफ, अक्षांश शिवहरे, प्रियांजल तपा, आदर्श राय, गर्व खरबंदा और अरबी विजय कुमार को सांत्वना पुरूस्कार प्रदान किये गए। इस आयु वर्ग में दिव्यांशी रावत उपविजेता और हर्ष बृजपुरिया विजेता रहे। 13 साल से कम आयु वर्ग में नगर पालिका द्वारा विशाल भिरयानी को विशेष रूप से पुरुस्कृत किया गया। इस आयु वर्ग के एकल मुकाबले में समरेश मोदी उपविजेता और मृदुल भिरयानी विजेता रहे। युगल में कबीर गोप व निषाद राज उपविजेता और समरेश मोदी व मृदुल भिरयानी विजेता रहे। 15 साल से कम आयु वर्ग सिंगल बॉयज में लोवीश भिरयानी उपविजेता व कुशाग्र चौबे विजेता रहे। 15 साल से काम आयु वर्ग गर्ल्स सिंगल्स का ख़िताब देवोश्री श्रीवास्तव ने जीता तो वही पलक सिंह उपविजेता रही। 15 साल से कम आयु वर्ग बॉयज डबल्स में तनिष्क दुबे व समरेश मोदी उपविजेता और लोवीश भिरयानी व कुशाग्र चौबे विजेता बने। 19 साल से कम आयु वर्ग के बालक एकल मुकाबलों में यश भांगरे उपविजेता रहे जबकि पलाश कछवाहा विजेता बने। 15 साल से कम आयु वर्ग बालक युगल का खिताब यश भांगरे व तुषार चावल की जोड़ी ने जीता। इस वर्ग के उपविजेता का ख़िताब पलाश कछवाहा व लोवीश भिरयानी को मिला। जूनियर मिक्स डबल में पलाश व देवोश्री को मात देकर यश व पलक विजेता बने।
@सैयद जावेद अली 
Facebook Comments
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com