Bahujan Sena Indiaलखनऊ – कांशीराम घर-घर दलित नेता बनाना चाहते थे, बहुजन सेना का गठन उनका सपना था। कांशीराम 2002 में बीमार पड़े, ठीक उसी वक़्त मायावती ने दलित सियासत को जबरन अपने हाथो में ले लिया और अपने आप को बहुजन समाज पार्टी का उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। मायावती की दलित विरोधी नीतियों व कार्यो से कांशीराम को सदमा लगा। पहले दिल्ली के बत्तरा हॉस्पिटल फिर एम्स में उनका इलाज चलता रहा, एक बड़ी शाजिश के तहत यहाँ उनका गलत ईलाज किया गया। यहाँ उनको सिलो पॉइज़न दिया जाता रहा, जिससे वो कभी बहार निकल नहीं पाये और उनकी मृत्यु हो गई।

बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे अमरनाथ गौतम के पुत्र कुमार विवेक गौतम ने यहाँ मायावती पर संगीन आरोप लगते हुए कहा की मेरी अगली प्रेसवार्ता में मै कई और सनसनीखेज खुलासे करुगा, जिसमे बहुजन समाज पार्टी के कई लोगो के, दलितों के नाम पर करोडो की लूट और उनके विदेशो में खातों का भी का भी हिसाब-किताब होगा।
बहुजन सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुमार विवेक गौतम ने यहाँ आयोजित एक प्रेसवार्ता में कांशीराम की मौत को एक साजिश बताया और प्रदेश,केंद्र सरकार के इस मामले की सीबीआई जाँच करने की मांग की। उन्होंने कहा की जरुरत पड़ी तो मैं इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी जाऊगा।

2017 में उत्तरप्रदेश में होने वाले विधानसभा में सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का मन बना चुके विवेक गौतम ने यहाँ अपनी पार्टी का मेनिफेस्टो जारी किया, जिसमे दलितों के लिए निःशुल्क शिक्षा, उत्तम चिकित्सा, स्थाई एवं सरकारी रोजगार, भ्रस्टाचार का खात्मा के साथ-साथ ‘राईट टू रिकॉल’ जैसे मुद्दो को शामिल किया  गया है।  जेएनयू के अध्यक्ष रह चुके कुमार विवेक गौतम ने बताया की यूपी की सभी 403 सीटो पर प्रतयाशियो के चयन की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है, जल्दी ही नामो की घोषणा की जाएगी। रिपोर्ट -शाश्वत तिवारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here