Home > India > कानपुर में दो समुदाय में बवाल, आगजनी-पथराव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

कानपुर में दो समुदाय में बवाल, आगजनी-पथराव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

कानपुर में होर्डिंग फाड़े जाने पर दो समुदाय में बवाल हो गया। जिसके बाद आगजनी और पथराव हुआ। पुलिस ने भीड़ को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया। रावतपुर गांव में शनिवार से दो समुदाय के बीच हुआ बवाल जारी है। मामूली विवाद के बाद दो समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। दोनों पक्षों में जमकर पथराव और मारपीट हुई। इससे अफरा-तफरी मच गई। दोनों पक्षों के चार लोग घायल हो गए। इससे नाराज एक पक्ष के लोगों ने पुलिस औैर प्रशासनिक अफसरों का घेराव कर हंगामा और नारेबाजी की। रामलला मंदिर गेट पर धरना दिया और पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने किसी तरह की स्थिति संभाला। इसके बाद दोनों समुदाय में तनाव बरकरार रहा।

रविवार सुबह संप्रदाय विशेष से जुड़े कुछ अराजकतत्वों के रावतपुर में ही एक धार्मिक कार्यक्रम का बैनर और पोस्टर फाड़े जाने से स्थिति बेकाबू हो गई। रामलला मंदिर के पास पुलिस पर पथराव हुआ। जवाब में पुलिस ने मंदिर परिसर में घुसकर लाठीचार्ज कर किया। रामलीला और दुर्गा पूजा कमेटी के लोगों को कमरे में घुसकर और दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। कई लोगों के मोबाइल और दुपहिया को क्षतिग्रस्त कर दिया। लाठीचार्ज और पथराव में 12 से ज्यादा लोगों को घायल हुए हैं।एसएसपी सोनिया सिंह, डीएम सुरेंद्र सिंह, विधायक अभिजीत सिंह सांगा और कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी के बेटे अनूप पचौरी ने मौके पर पहुंच कर लोगों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। तनाव के मद्देनजर रावतपुर में फोर्स तैनात किया गया है।

रावतपुर गांव स्थिति रामलला मंदिर में रामलीला का आयोजन चल रहा है। शनिवार शाम करीब चार बजे मंदिर परिसर से रामलला शोभा यात्रा निकली। यात्रा मंदिर गेट बर्तन बाजार की तरफ जा रही थी। उसी दौरान पुरानी मस्जिद (जामा मस्जिद) के पास खंभे में लगी मुहर्रम की झंड़ी टूट गई और दोनों संप्रदाय के लोग भिड़ गए। मजिस्द से कुछ लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। एक युवक को कुछ लोगों ने खींचकर ले जाने का प्रयास किया। जवाब में शोभा यात्रा में भी ईंट-पत्थर चलाए। मजिस्द से कुछ दूरी पर रखे ताजिए के पास बज रहे म्यूजिक सिस्टम को शरारती तत्वों ने पलट दिया। इसके बाद एसपी पश्चिम डॉ. गौरव ग्रोवर सर्किल फोर्स पुलिस और पीएसी के साथ मौके पर पहुंच कर स्थिति पर काबू पाया।

पुलिस शोभा यात्रा को चारों तरफ घेरकर यात्रा रामलला रोड, पुराना बर्तन बाजार, पुराना डाकघर रोड और बकरमंडी तिराहा होकर रामलला मंदिर गेट पर पहुंचाया। गेट पर नाराज लोगों ने पथराव करने वालों की गिरफ्तारी, इंस्पेक्टर कल्याणपुर को निलंबित किए जाने की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। गेट पर धरने पर बैठ गए और पुलिस व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। सीओ कल्याणपुर रजनीश वर्मा और अन्य अफसरों को भीड़ ने घेर लिया। सीओ से नोंकझोक व धक्का-मुक्की हुई। रामलीला कमेटी के पदाधिकारियों ने एलान किया कि जब तक मांगे पूरी न होंगी, रावण का पुतला दहन नहीं होगा। पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने किसी तरह लोगों को समझा कर मामला शांत कराया। तनाव के मद्देनजर क्षेत्र में फोर्स तैनात रहा, लेकिन दोनों संप्रदाय के लोगों में तनातनी चलती रही।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com