Home > Sports > Football > विश्व के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर लियोनल मेसी को 21 महीने की जेल !

विश्व के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर लियोनल मेसी को 21 महीने की जेल !

lionel messiअर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी को 21 महीने की जेल की सजा सुनाई गई है। मेसी को कर संबंधी मामले में स्पेन की कोर्ट ने 21 महीने जेल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने यह सजा तीन टैक्स के मामलों में सुनाई है। बता दें कि मेस्सी पर स्पेन में केस चला था। मेसी स्पेन में लेन-देन के मामले में फंसे हुए थे।

चिली के खिलाफ कोपा अमेरिका 2016 में मिली हार के बाद अर्जेन्टीना के कप्तान लियोनेल मेसी ने फुटबॉल को अलविदा कह दिया था। अर्जेंटीना टीम के चार फाइनल गंवाने से दुखी विश्वप्रसिद्ध फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी ने यह फैसला किया।

शानदार करियर और पांच बार विश्व के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर का खिताब जीतने और तीन बार यूरोपीय गोल्डन शू का खिताब जीतने वाला इकलौते फुटबॉलर होने के बावजूद मेसी को कई मौकों पर अपने देश के प्रशंसकों की आलोचना का सामना करना पड़ा था।

2008 में मेसी ने ओलिंपिक में अर्जेंटीना को स्वर्ण पदक दिलवाया, यही उनकी देश के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि रही है, क्योंकि उनके रहते अर्जेंटीना को 4 फाइनल में हार का मुंह देखना पड़ा है।

साल 2007 के कोपा अमेरिका के फाइनल सहित अर्जेंटीना की टीम को मेसी के रहते 4 बार बड़े फाइनल मुकाबलों में हारी है, जिनमें 2014 के वर्ल्ड कप फाइनल में जर्मनी ने 1-0 से, 2015 के कोपा अमेरिका के फाइनल में चिली ने पेनल्टी में मात ही दी थी और अब एक बार फिर चिली ने कोपा 2016 फाइनल में मेसी की अर्जेंटीना को मात दे दी। मेसी 5 बार के बैलन डि ओर (फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी) विजेता हैं। यही नहीं मेसी अर्जेंटीना के लिए सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी हैं, उन्होंने 55 गोल किए हैं।

अर्जेंटीना में पैदा हुए लियोनेल मेसी बचपन में वृद्धि (ग्रोथ) हार्मोन की कमी से पीडि़त थे, जिससे उनका शारीरिक विकास रुक गया था। महज 4 साल की उम्र से ही फुटबॉल के दीवाने हो चुके मेसी को 11 साल की उम्र में इस बीमारी का पता चला। इसके इलाज के लिए उनके पास पैसे नहीं थे और अर्जेंटीना के जिस क्लब से वह खेलते थे उससे भी उन्हें कोई मदद नहीं मिल पा रही थी। यह समस्या उनके फुटबॉलर बनने के सपने में सबसे बड़ी बाधा थी।

फुटबॉल में महारत हासिल करने जा रहे मेसी की इस बीमारी से उनके मां-बाप भी काफी परेशान थे। बाद में स्पेन में रहने वाले मेसी के रिश्तेदारों ने उन्हें बार्सिलोना फुटबॉल क्लब से जुडऩे की सलाह दी। इस क्लब ने 13 साल के मेसी को हाथों हाथ लिया और उनके इलाज की जिम्मेदारी भी ली। फिर क्या था तीन साल में मेसी फिट हो गए और फुटबॉल के मैदान पर उनकी जादूगरी रंग लाने लगी।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com