Home > India > फेसबुक वॉल पर नेहरू की तारीफ पर नपे बड़वानी कलेक्टर

फेसबुक वॉल पर नेहरू की तारीफ पर नपे बड़वानी कलेक्टर

Pandit-Jawaharlal-Nehruभोपाल/ बड़वानी- फेसबुक वॉल पर नेहरू-गांधी परिवार की तारीफ करना बड़वानी कलेक्टर अजय गंगवार को भारी पड़ गया। सरकार ने गंगवार को पद से हटा दिया। उन्हें मंत्रालय में उपसचिव पदस्थ किया गया है। जबकि गंगवार की जगह किसी दूसरे अधिकारी की पदस्थापना नहीं की गई। उल्लेखनीय है कि आईएएस कैडर में पदोन्न्त होने से पहले गंगवार पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के विशेष सहायक थे।

सूत्रों का कहना है कि मुख्य सचिव अंटोनी डिसा ने सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों से गंगवार की फेसबुक वॉल पर की गई टिप्पणी को लेकर पूरी जानकारी मांगी थी। देर शाम मंत्रालय में गंगवार को हटाए जाने की सुगबुगाहट शुरू हुई।

मुख्यमंत्री सचिवालय में अधिकारियों के साथ बैठक के बाद यह तय हो गया था कि सरकार गंगवार के खिलाफ सख्त कदम उठा सकती है। देर रात सामान्य प्रशासन विभाग की उप सचिव अनुभा श्रीवास्तव के हस्ताक्षर से गंगवार को हटाने का आदेश जारी कर दिया। यह फैसला इतनी जल्दबाजी में लिया गया कि उनकी जगह किसी की पदस्थापना ही नहीं की गई।

अजय गंगवार ने बुधवार को अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था, जरा गलतियां बता दीजिए जो नेहरू को नहीं करनी चाहिए थी। अगर उन्होंने 1947 में आपको हिंदू तालिबानी राष्ट्र बनने से रोका तो यह उनकी ग़लती थी, उन्होंने आईआईटी, इसरो, आईआईएसबी, आईआईएम, भेल स्टील प्लांट, बांध, थर्मल पावर लाए ये उनकी ग़लती थी।
आसाराम और रामदेव जैसे इंटिलेक्चुअल्स की जगह साराभाई और होमी जहांगीर को सम्मान और काम करने का मौका दिया ये उनकी गलती थी, उन्होंने देश में गौशाला और मंदिर की जगह यूनिवर्सिटी खोली ये भी उनकी घोर गलती थी।

इस पोस्ट की चर्चा होने के बाद गुरुवार को उन्होंने उसे हटा दिया था। सामान्य प्रशासन मंत्री लालसिंह आर्य ने इस पर आपत्ति की थी। उसके बाद से ही माना जा रहा था कि उन पर कार्रवाई की जाएगी।

लाल सिंह आर्य ने कहा था कि सिविल सेवा आचरण नियम का उल्लंघन नही किया जाना चाहिए। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सभी को लेकिन नियमों का भी पालन होना चाहिए।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com