Home > India > अयोध्या में बनेगा राम मंदिर – आरएसएस

अयोध्या में बनेगा राम मंदिर – आरएसएस

rss sang

लखनऊ [ TNN ] अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर नरेन्द्र मोदी सरकार पर फिलहाल कोई दबाव नहीं बनाने का संकेत देते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने आज कहा कि यह मुद्दा भाजपा के घोषणापत्र में रहा है और केंद्र सरकार के पास इसके लिए 2019 तक का समय है।

संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले ने आज संवाददाताओं के एक सवाल के जवाब में कहा कि राम मंदिर का मुद्दा तो पहले से मैनिफेस्टो (भाजपा के चुनाव घोषणापत्र) में है। राम मंदिर तो देश के एजेंडे में हैं – राष्ट्र हित में है। उन्होंने कहा कि हम राम मंदिर निर्माण के लिए धर्माचार्यों और विहिप के आंदोलन का समर्थन करते रहे हैं।

यह पूछे जाने पर कि भाजपा पूर्ण बहुमत की सरकार बनने पर मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए कानून बनाने की बात करती रही है और अब भाजपा की बहुमत की सरकार बनने पर क्या संघ इस संबंध में कोई मांग करेगा, होसबाले ने कहा, सरकार की अपनी प्राथमिकताएं हैं- सरकार उनके अनुसार काम करेगी, अभी उनके पास 2019 तक का समय है।

होसबाले संघ की आज शुरु हुई तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के बारे में जानकारी देने के लिए संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। आतंकी संगठनों अलकायदा और आईएसआईएस की चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने अधिक विस्तार में नहीं जाते हुए कहा, बैठक में देश की सुरक्षा के संदर्भ में भी चर्चा होगी।

लव जिहाद से जुड़े सवालों को होसबाले यह कहते हुए टाल गये कि पिछले 10 सालों में इस पर काफी चर्चा हो चुकी है। यह पूछे जाने पर कि क्या कार्यकारी मंडल की बैठक में कोई राजनीतिक एवं आर्थिक प्रस्ताव पारित किया जायेगा, उन्होंने बताया, अभी तो नयी सरकार आयी ही है, पहले इसका काम काज देखेंगे।

होसबाले ने इस मौके पर जम्मू कश्मीर, आंध्र प्रदेश, मेघालय आदि राज्यों में हाल के दिनों में आयी आपदाओं के दौरान संघ कार्यकर्ताओं द्वारा किये गये बचाव और राहत कार्यों की विस्तार से जानकारी दी और बताया कि कार्यकारी मंडल की बैठक में इन क्षेत्रों में संघ की तरफ से चलाये जाने वाले पुनर्वास कार्यक्रमों की रुपरेखा तय की जायेगी।

उन्होंने बताया कि विगत तीन चार वर्षों से संघ का हर वर्ष लगभग 20 प्रतिशत की दर से विस्तार हो रहा है और इस वर्ष इसके प्राथमिक प्रशिक्षण वर्ग में लगभग सवा लाख नये स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया। सह सरकार्यवाह ने बताया कि अब संघ नागरिक अनुशासन, स्वच्छता और पर्यावरण के क्षेत्रों में योगदान के लिए विशेष योजनाएं बनायेगा। उन्होंने कहा कि बैठक में देश के विभिन्न भागों से आये लगभग 390 प्रांत प्रचारक और राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी विभिन्न क्षेत्रों में किये गये कार्यों के बारे में अपने अनुभव साक्षा करेंगे, जिसके आधार पर विभिन्न क्षेत्रों के लिए कार्यक्रमों की एपरेखा तय की जायेगी।

होसबाले ने बताया कि हाल के दिनों में प्राकतिक आपदाओं तथा सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से हुई गोलीबारी में मारे गये नागरिकों और शहीदों को श्रद्धांजलि देने के साथ शुरु हुई तीन दिवसीय बैठक की शुरुआत संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की। उन्होंने बताया कि कार्यकारी मंडल की बैठक में शामिल होने के लिए संघ पदाधिकारियों एवं स्वयंसेवकों के अलावा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी यहां आए हैं ,जो विशेष निमंत्रण पर आज बैठक में मौजूद रहेंगे।

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com