Home > Crime > 30 हजार में पत्नी को रखा गिरवी, न लौटाने पर कत्ल

30 हजार में पत्नी को रखा गिरवी, न लौटाने पर कत्ल

murder

यमुनानगर- दोस्त से 30 हजार रुपये कर्जा लेकर बदले में बीवी को गिरवी रख दिया। कर्जा लौटाने पर जब दोस्त ने बीवी लौटाने से मना किया तो दोस्त का कत्ल कर दिया। हत्या के 15 दिन बाद डिटेक्टिव स्टाफ ने महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री को सुलझा दिया है। एक आरोपी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

वारदात, हरियाणा के यमुनानगर इलाके की है। आरोपी ने कबूला कि पत्नी को जबरन अपने पास रखने की रंजिश में उसने अपने दोस्त को पत्नी व दो साथियों के साथ मिलकर ईंट-डंडों से मारकर मौत के घाट उतार दिया। मालूम हो कि 31 अक्तूबर को जगाधरी-यमुनानगर रोड पर मूल रूप से बिहार निवासी गोलम का शव मिला था, जो यहां रजाइयां भरने का काम करता था।

इसी साल जनवरी में उसने अपने दोस्त साबिर अली को 30,000 रुपये कर्ज के तौर पर दिए। साबिर भी बिहार का ही रहने वाला था। साबिर टिफिन सेवा का काम करता था और यमुनानगर व जगधारी में ठेकेदारों के लिए मजदूरों का इंतजाम करता था। गोलम साबिर की पत्नी सलमा द्वारा पकाया गया खाना खाता था।

पुलिस के मुताबिक, इस साल जनवरी में साबिर ने अपनी पत्नी सलमा को गोलम के पास गिरवी रख दिया। गोलम सलमा को जगधारी के अर्जुन नगर स्थित अपने घर ले गया। मार्च में गोलम अपने साथ सलमा को लेकर बिहार स्थित अपने गांव भी गया। साथ ही, वह सलमा के साथ हिमाचल प्रदेश में कई जगहों पर घूमा।

सितंबर में जब रजाई बनाने का काम फिर से शुरू हुआ तो गोलम सलमा को साथ लेकर यमुनानगर लौट आया। दोनों एक साथ रह रहे थे कि 31 अक्टूबर को गोलम मरा हुआ पाया गया। मृतक के सिर व गले पर चोट के निशान मिलने पर परिजनों ने उसकी हत्या की आशंका जताई थी। तब थाना शहर जगाधरी पुलिस ने मृतक के जीजा मोहम्मद जहांगीर के बयान पर अज्ञात पर हत्या का केस दर्ज किया था। बाद में एसपी ने जांच की जिम्मा डिटेक्टिव स्टाफ को सौंपा।

डिटेक्टिव स्टाफ के इंचार्ज निरीक्षक संदीप कुमार ने टीम का गठन किया। टीम ने 15 दिन बाद वारदात में शामिल आरोपी सलमा, साबिर अली निवासी बिहार हाल आबाद यमुनानगर व अख्तर निवासी पुराना हमीदा को गिरफ्तार कर लिया। जबकि मामले में एक अन्य आरोपी गौरव अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

पुलिस पूछताछ में आरोपी साबिर अली ने बताया कि 3 महीने पहले जब वह 30,000 रुपये लेकर गोलम के पास गिरवी पत्नी को छुड़वाने गया तो गोलम ने सूद के तौर पर 20,000 रुपये और मांगे। साबिर ने 31 अक्टूबर को वह पैसे भी गोलम को लौटा दिए, लेकिन गोलम सलमा को छोड़ने के लिए राजी नहीं था।

इसी वजह से गोलम से वह रंजिश रखता था और उसने अपनी पत्नी सलमा के साथ अपने दोस्त अख्तर व गौरव निवासी तितावी (उत्तरप्रदेश) को साथ लेकर गोलम की हत्या कर दी। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि मामले में शामिल अन्य आरोपी गौरव को भी जल्द काबू कर लिया जाएगा।-एजेंसी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com