student-suicideभिंड – उमरी थाने के लॉकअप में चोरी के आरोप में बंद एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पिता अविलाख यादव के मुताबिक उमरी पुलिस ने 6 अप्रैल की शाम 4 बजे रज्जन उर्फ सुनील (20) को गांव गेहवाद से गिरफ्तार किया था।

मृतक के परिजनों ने पीएम के बाद उमरी में शव रखकर लगाया जाम। पुलिस पर किया पथराव। पुलिस ने आंसू गैस के गोले चलाए और हवाई फायरिंग की।

परिजनों का आरोप है कि पुलिस की पिटाई से उसकी मौत हो गई है, जिसके बाद उसे फांसी पर लटकाया गया। एसपी नवनीत भसीन ने प्रभारी टीआई रामबाबू यादव, एचसीएम सहित 3 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। घटना शनिवार रात 11 बजे के बाद की है।

शव को पीएम के लिए जिला अस्पताल लाया गया है। सूचना मिलते ही भाजपा विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह और बसपा नेता संजीव सिंह उर्फ़ संजू कुशवाह भी जिला अस्पताल पहुंच गए। परिजनों ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने की मांग की है।

मध्यप्रदेश के खंडवा में भी इस तरह का मामला हुआ था जिसमे एक आरोपी ने लॉकअप में ही फांसी लगा ली थी। जिसमे पुलिस पर हत्या करने का आरोप भी लगा था हालांकि यह मामला अभी विचाराधीन है।