Bhopal Gas Tragedyभोपाल- भोपाल गैस त्रासदी की 31वीं बरसी पर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि भोपाल गैस त्रासदी में भाजपा, कांग्रेस सरकारों ने बहुराष्ट्रीय कंपनी के सामने घुटने टेके। न्याय की आस में भटकते पीड़ितों के दुखद 31 वर्ष। विनम्र श्रधांजलि। अब व्यवस्था परिवर्तन ही एकमात्र आस।

भोपाल गैस त्रासदी को याद करते हुए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं मध्यप्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल ने भी कहा कि न गुनाहों की जवाबदेही न राहत न दे पाने की जवाबदेही। क्या यह हत्यारी कंपनी की गुलामी नहीं? कल भोपाल में फिर होंगी श्रद्धांजलि सभाएं, फिर दुनिया के सबसे बड़े हादसे पर आंसू बहाया जायेगा।पर सच्चाई है कि कांग्रेस सरकार ने हत्यारे को भागने में सहायता की और भाजपा सरकार भी पीड़ितों को कोई ठोस राहत नहीं दे पायी। न गुनाहों की जवाबदेही न राहत न दे पाने की जवाबदेही। क्या यह हत्यारी कंपनी की गुलामी नहीं?

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं मध्यप्रदेश सचिव श्री अक्षय हुंका ने कहा कि एक सरकार निर्दोषों को गैस से मार दे तो दूसरी सरकार सहायता के लिये सालों इंतजार के बाद हाथ खड़े कर दे, इसे संवेदनहीनता की पराकाष्ठा ही कहेगे, इस पर भी गैस त्रासदी से ज्यादा खतरनाक हैं नरोत्तम मिश्रा जी जैसे नेता जिनका ये कहना है कि राज्य सरकार गैस पीड़ितों की मदद कर चुकी है और इतना ही सही है।

इस तरह के नेताओं के जहरीले बयान से आज तक लोग आहत हो रहे हैं। जमीनी हकीकत की बात करे तो उस भयानक त्रासदी के शिकार लोगो की समस्याए आज मर्मस्पर्शी है, तो बहुतो को मुआवजा तक नही मिला है। मानव इतिहास की सबसे भीषण त्रासदियों में भोपाल गैस त्रासदी को एक मजाक बना कर रख दिया नरोत्तम मिश्रा जैसे मंत्रीयों ने। भाजपा के कुशासन एव संवेदनहीन व्यवस्था को कोसते हुए कहा कि जनता इन्हे जरूर सबक सिखायेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि 3 दिसम्बर को 1 बजे यूनियन कार्बाइड के गेट पर श्रद्धांजली सभा रखी जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here