Home > Crime > बड़ा खुलासा: किले से लटकी मिली लाश पर FSL रिपोर्ट में किया ये दावा

बड़ा खुलासा: किले से लटकी मिली लाश पर FSL रिपोर्ट में किया ये दावा

जयपुर के नाहरगढ़ किले से लटके मिले चेतन सैनी नाम के शख्स की मौत पर FSL की रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चेतन सैनी की हत्या नहीं की गई थी, बल्कि उसने आत्महत्या की थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि चेतन सैनी की लाश के पास किसी दूसरे व्यक्ति के आने का सबूत नहीं मिला है।

फोरेंसिक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि चेतन सैनी की लाश के इर्द-गिर्द पत्थरों पर फिल्म और ऐतिहासिक पात्र पद्मावती से जोड़कर लिखे गए नारे खुद चेतन की हैंडराइटिंग में ही थे। फोरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार, पत्थरों पर लिखे मिले सांप्रदायिक उन्माद के नारों की हैंडराइटिंग चेतन की डायरी में दर्ज हैंडराइटिंग से मिल रही है।

इतना ही रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पत्थरों पर लिखे नारे फ्री हैंडराइटिंग हैं, मतलब किसी ने जबरन नहीं लिखवाया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जब किसी से कोई चीज जबरन लिखवाई जाती है तो उसका हाथ कांपता है। ऐसे में व्यक्ति की मूल हैंडराइटिंग से वह थोड़ा बदल जाती है।

लेकिन नाहरगढ़ किले में पत्थरों पर लिखे नारे पूरे होशो-हवास में स्वतंत्र रूप से लिखे लगते हैं। चेतन सैनी के शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान भी नहीं मिले, जो उसके साथ जोर-जबरदस्ती या मारपीट की भी पुष्टि नहीं करते। मतलब आत्महत्या की ओर ही इशारा करते हैं।

चेतन सैनी के शरीर के एक साइड में ही खरोंच के निशान मिले थे। इस पर रिपोर्ट में कहा गया है कि चेतन सैनी को ये खरोंचें किले की दीवार पर चढ़ने के बाद से खुद को फांसी पर लटकाने के दौरान दीवार से रगड़ने के चलते हुए लगी होंगी। चेतन के शरीर का कोई अंग टूटा-फूटा भी नहीं था।

विसरा जांच में यह भी पता चला है कि चेतन सैनी के शरीर में किसी तरह का अल्कोहल या ड्रग्स या कोई भी नशीला पदार्थ मौजूद नहीं था। चेतन सैनी ने मौत से ठीक पहले सेल्फी भी ली थी, जिसकी जांच भी की गई। सेल्फी की जांच में सामने आया है कि तस्वीर में किसी अन्य व्यक्ति की परछाईं तक नहीं है।

सेल्फी की जांच से भी लग रहा है कि चेतन सैनी ने आत्महत्या ही की थी। ज्ञात हो कि नाहरगढ़ किले से चेतन सैनी की रस्सी से झूलती लाश जब मिली थी, तब पूरे देश में फिल्म पद्मावती को लेकर जबरदस्त हंगामा मचा हुआ था। चेतन सैनी की लाश के इर्द-गिर्द पत्थरों पर पद्मावती से ही जुड़े ढेरों नारे भी लिखे मिले थे, जिनमें सांप्रदायिक उन्माद की बातें थीं।

FSL के डायरेक्टर बीबी अरोड़ा ने बताया कि पूरी जांच में कहीं भी ऐसा नहीं दिख रहा है कि चेतन की हत्या की गई हो। पद्मावती विवाद के बीच चेतन सैनी की लाश मिलने से विवाद ने तनाव का रूप ले लिया था। हालांकि शुरुआती जांच में पुलिस ने भी खुदकुशी की बात ही कही थी।

लेकिन पुलिस को भी अपनी थ्योरी की पुष्टि के लिए FSL रिपोर्ट का इंतजार था। अब चूंकि FSL की रिपोर्ट आ गई है, जिसमें खुदकुशी की पुष्टि हुई है तो अब पुलिस मामले में आत्महत्या के एंगल से ही आगे की कार्रवाई करेगी। चेतन सैनी की मौत पर माली समाज और करणी सेना ने जांच की मांग की थी।

करणी सेना ने चेतन की मौत का जिम्मेदार फिल्म पद्मावती के निर्देशक संजय लीला भंसाली को बताया था। अपनी रिपोर्ट तैयार करने के लिए FSL ने चेतन सैनी की लिखी कई डायरियां जब्त की थीं, उसके मोबाइल फोन, जूतों, नॉयलन की रस्सी और उसके लैपटॉप में सेव दस्तावेजों की भी जांच की।

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .