बीजेपी नेता बग्‍गा बोले उमर खालिद ने भड़काई दिल्ली में हिंसा, Video किया ट्वीट

उमर खालिद ने कहा, ‘जब अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप भारत में होंगे तो हमें सड़क पर उतरना चाहिए। 24 तारीख को ट्रंप आएंगे तो बताएंगे कि हिंदुस्तान की सरकार देश को बांटने की कोशिश कर रही है। महात्मा गांधी के उसूलों की धज्जियां उड़ा रही है।

नई दिल्लीः अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान राजधानी दिल्‍ली में भड़की हिंसा में अब तक 46 लोगों की मौत हो गई है। इस हिंसा के लिए बीजेपी नेता कपिल मिश्रा और भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद को जिम्‍मेदार ठहराया जा रहा था लेकिन अब इसमें एक और नाम जुड़ गया है। देशद्रोह मामले में आरोपी जेएनयू छात्र उमर खालिद का एक विडियो वायरल हो गया है जिसमें वह ट्रंप के आने पर लोगों से सड़क पर उतरने की अपील कर रहे हैं।

अक्‍सर विवादों में रहने वाले जेएनयू के उमर खालिद पर एक बार फिर भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगा है। महाराष्ट्र के यवतमाल में उनके एक भाषण का क्लिप सामने आया है। यह भाषण अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से ठीक पहले 17 फरवरी का है। ट्रंप के आने के बाद पूर्वोत्तर दिल्ली में दंगे भड़क गए थे। इस विडियो के सामने आने के बाद अब उमर खालिद दिल्ली पुलिस के निशाने पर आ सकते हैं।

यवतमाल में दिए भाषण में उमर खालिद ने कहा, ‘जब अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप भारत में होंगे तो हमें सड़क पर उतरना चाहिए। 24 तारीख को ट्रंप आएंगे तो बताएंगे कि हिंदुस्तान की सरकार देश को बांटने की कोशिश कर रही है। महात्मा गांधी के उसूलों की धज्जियां उड़ा रही है। यह बताएंगे कि हिंदुस्‍तान की आवाम हिंदुस्‍तान के हुक्‍मरानों के खिलाफ लड़ रही है। उस दिन हम तमाम लोग सड़कों पर उतरकर आएंगे।’

इस बीच बीजेपी ने उमर खालिद के विडियो को लेकर हमला बोला है। दिल्‍ली बीजेपी के प्रवक्‍ता तजिंदर पाल सिंह बग्‍गा ने उमर खालिद का व‍िडियो ट्वीट कर लिखा, ‘जिहादी ताकतों द्वारा यह साजिश पहले ही रच दी गई थी कि जिस दिन डोनाल्ड ट्रंप भारत में आएंगे उस दिन टुकड़े-टुकड़े गैंग सड़कों पर उतरेगा और देश को बदनाम करने की कोशिश करेगा। 17 फरवरी का उमर खालिद का यह भाषण उसी का सबूत है।’

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध और समर्थन को लेकर हुए बवाल में 46 लोगों की जिंदगी छीन ली है तो करीब 250 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। इस हिंसा में हजारों वाहन फूंक दिए गए, सैकड़ों मकान जले और दुकानें लूट ली गईं। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही बना हुआ है कि दिल्ली में हिंसा के इस तांडव के लिए जिम्मेदार कौन है? सोशल मीडिया पर बहुत से लोग बीजेपी नेता कपिल मिश्रा को विलेन बता रहे हैं तो कई लोग भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद को दोष दे रहे हैं। इस ताजा विडियो के बाद अब उमर खालिद भी जांच एजेंसियों के निशाने पर आ गए हैं।