बरसे नीतीश,कहा-अमित शाह के कहने पर JDU में प्रशांत किशोर को शामिल किया, जाना चाहें तो चले जाएं

नीतिश कुमार ने कहा कि हमने प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर पार्टी में लिया था। उन्होंने कहा कि जेडीयू में जो जब तक रहना चाहे रह सकता, है, जिसे जाना है वो चला जाए। आपको बता दें कि प्रशांत किशोर पिछले कई दिनों से संशोधित नागरिकता कानून को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर हैं।

नई दिल्ली: बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार एक बार फिर से प्रशांत किशोर पर बरसे। उन्‍होंने प्रशांत किशोर द्वारा किए गए ट्वीट पर कोई प्रतिक्रिया दिए बिना कहा की जो मुझे पत्र लिखता है मैं उसे जवाब देता हूं, जिसे ट्वीट करना है वो ट्वीट करता रहे। उन्होंने कहा कि ट्विटर से राजनीति नहीं चलती है। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी में रहना है तो पार्टी लाइन में चलना पड़ेगा।

नीतिश कुमार ने कहा कि हमने प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर पार्टी में लिया था। उन्होंने कहा कि जेडीयू में जो जब तक रहना चाहे रह सकता, है, जिसे जाना है वो चला जाए। आपको बता दें कि प्रशांत किशोर पिछले कई दिनों से संशोधित नागरिकता कानून को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर हैं। प्रशांत किशोर ने भी नीतिश कुमार के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि वो बिहार आकर नीतिश कुमार को जवाब देंगे


वहीं पत्रकारों से बात करते हुए नीतिश कुमार ने कहा कि केंद्र द्वारा सीएए लागू किया गया है और इसके बारे में किसी भी भ्रांति को सर्वोच्च न्यायालय द्वारा देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि एनआऐरसी को लेकर हम पहले ही अपना विरोध प्रधानमंत्री के सामने बता चुके हैं और अपनी स्थिति से भी अवगत करवा चुके हैं। उन्होंने जहानाबाद से गिरफ्तार देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम को लेकर कहा कि दिल्ली पुलिस को बिहार पुलिस सहयोग कर रही है, जो गलत काम करेगा, उसपर कानूनी कार्रवाई होगी ही


वहीं सीएए पर उन्होंने कहा, जो माहौल बना है, उसको सामान्य करने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे लेकर कोर्ट में मामला गया है, कोर्ट में बहस होगी, लेकिन तब तक इंतजार करना चाहिए। वहीं उन्होंने कहा कि एनपीआर 2012 से चल रहा है, उसमें कुछ नया नहीं है, लेकिन एनआरसी को लागू करना का सवाल ही नहीं है। उन्होंने कहा कि समाज में किसी तरह की कटुता नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एनपीआर में कोई नया क्लॉज लाने की जरूरत नहीं है। इसमें 5 नए क्लॉज जोड़े गए हैं, लेकिन अगर इससे लोगों के मन में भ्रम पैदा होता है तो उसपर विचार किया जाना चाहिए