Home > State > Bihar > पीएम नरेंद्र मोदी ने लालू नितीश पर दागे सवाल

पीएम नरेंद्र मोदी ने लालू नितीश पर दागे सवाल

narendra modi
पटना- लालू नीतीश जी जितना कीचड़ फेंकना है फेंक लो लेकिन ये कमल कीचड़ में उतना ही खिलेगा। मधुबनी के बाद कटिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने बिहार के लोगों से पूछा कि नीतीश बाबू ने बिजली का वादा किया था, बिजली आई क्या।

उन्होंने लोगों को चेताया कि जिन्होंने आपके साथ धोखा किया, वादा तोड़ा जिन्होंने उनसे नाता तोड़ने के लिए ही ये चुनाव है। मोदी ने दावा किया कि मैने ठान लिया है बिहार के 4 हजार गांवों तक बिजली पहुंचा कर रहूंगा।

बिहार में दो ऐसी ताकत हैं जो बिहार की सरकार को समझ नहीं आई। बिहार का पानी और बिहार की जवानी। इन दोनों के सहारे मैं बिहार को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाना चाहता हूं। आरक्षण के मुद्दे पर लालू नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि इस देश के किसी भी राजनीतिक दल में जो बाबा साहब अंबेडकर ने आरक्षण दिया है उसे वापस लेने की हिम्मत नहीं है।

पीएम ने याद दिलाया कि 23 और 24 जुलाई 2005 को लालू और नीतीश एक मंच पर आए थे और इन्होंने आरक्षण में बदलाव की वकालत की थी आज इनकी चोरी पकड़ी गई तो तिलमिलाए रहे थे।

इससे पूर्व मधुबनी रैली में मोदी ने नीतीश और लालू पर जमकर निशाने साधे। पांचवे और अंतिम चरण के प्रचार के लिए सीमांचल बिहार के मधुबनी में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने नीतीश-लालू शासन के साथ-साथ कांग्रेस को भी लपेटे में ले लिया।

कर्पूरी गांव की महिलाओं द्वारा पीएमओ को भेजे गए ज्ञापन को लहराते हुए मोदी ने कहा कि इन महिलाओं ने बताया कि उन्हें उनकी जगहों से उजाड़ा जा रहा है स्‍थानीय शासन के अलावा प्रदेश सरकार भी उनकी सुनने को तैयार नहीं है।

मजबूरी में महिलाओं ने मुझे खत लिखकर अपनी वेदना बताई। महिलाओं द्वारा भेजे ज्ञापन में उनके लगाए गए अंगूठों पर मोदी ने कहा कि ‌35 साल के शासन में कांग्रेस और 25 साल के शासन में लालू नीतीश ने महिलाओं के लिए क्या किया।

बिहार की अधिकतर महिलाएं आज भी अश‌िक्षित हैं, जिसकी जिम्मेदार ये तीनों दल हैं। जिन्होंने सत्ता में रहने के दौरान महिलाओं के लिए कुछ नहीं किया। लालू जी, नीतीश जी आपने 25 साल बिहार में शासन किया बिहार की माताओं बहनों को क्या दिया। खत को लहराते हुए कहा कि यह दस्तावेज है आपकी विफलता का।

बिहार को लेकर अपनी प्राथमिकताएं गिनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा की सुविधा देकर ही बिहार के आम आदमी की जिदंगी में सुधार हो सकता है।

नीतीश के तांत्रिक वाले मुद्दे को एक बार फिर तूल देते हुए मोदी ने कहा कि अगर भाजपा बिहार में जीती तो यहां विकास की सरकार होगी और अगर हारी तो फिर यहां जंतर मंतर की सरकार होगी। कहा, ये जंगलराज और जंतर मंतर को इकट्ठा मत होने दो वर्ना तबाही के सिवाय आपके नसीब में कुछ नहीं आएगा।

आंकडों के जरिए पूर्ववर्ती सरकारों की विफलताएं गिनाते हुए मोदी ने कहा कि शिक्षा की दृष्टि से बिहार 29वें, प्रति व्यक्ति विद्युत की खपत से 29वें, शुद्ध पीने का पानी मुहैया कराने की स्थिति में 26वें, ग्रामीण क्षेत्रों में विकास की दृष्टि से 28वें और रोजगार की दृष्टि से बिहार देशभर में 30 वें नंबर पर है।

झारखंड का उदाहरण देते हुए कहा कि सालभर पहले ही झारखंड में भाजपा की सरकार आई और आज वो विकास के मामले में देश के टॉप टेन राज्यों में है। बिहार में भी विकास की अपार संभावनाएं हैं खासकर पर्यटन के क्षेत्र में राज्य का बहुत विकास हो सकता है। इससे यहां के युवाओं को रोजगार मिलने की संभावनाएं भी हैं।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com