modiपणजी – गोवा की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने एक विवादित फैसला लिया है। गोवा में दो अक्टूबर गांधी जयंती को सरकारी छुट्टियों की लिस्ट से बाहर कर दिया गया है । गोवा सरकार के इस फैसले का आरएसएस ने समर्थन किया है। आरएसएस के महासचिव भैयाजी जोशी ने कहा कि सरकारी छुट्टियों की संख्या कम की जानी चाहिए।

बीजेपी सरकार के इस फैसले से कांग्रेस आगबबूला है। कांग्रेस ने इस फैसले पर कहा कि गांधी जयंती राष्ट्रीय छुट्टी है और गोवा सरकार को भी इसका पालन करना चाहिए।

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि आप ऐसा नहीं कर सकते। गांधी जी राष्ट्रपिता हैं। शर्मा ने कहा कि पिछले साल भी बच्चों को दो अक्टूबर के दिन स्कूल जाने के लिए कहा गया था। आनंद शर्मा ने कहा कि गोवा की सरकार को नागरिक अधिकार और निजता के मामले पर जवाब देना चाहिए।

2015 के लिए जारी राजपत्रित अवकाश सूची (वाणिज्यिक और औद्योगिक) का हवाला देते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता दुर्गादास कामत ने कहा कि राष्ट्रपिता की जयंती को सूची से हटा दिया गया है।

सूची में हालांकि बाबासाहेब अंबेडकर का जन्मदिन, गणेश चतुर्थी, स्वतंत्रता दिवस जैसे अवकाश को रहने दिया गया है। कामत ने कहा, ‘यह स्पष्ट रूप से बीजेपी सरकार के छिपे हुए अजेंडे को दर्शाता है। अभी तो शुरुआत है, सरकार भविष्य में कहीं नाथूराम गोडसे के जन्मदिन को छुट्टियों की सूची में न शामिल कर ले।’

कामत ने कहा, ‘पूर्व के गजटों में गांधी जयंती पर छुट्टी वाणिज्यिक और औद्योगिक अवकाश सूची’ में दर्ज रहती थी। पिछले साल तक ऐसा ही देखा गया, मगर इस साल हटा दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here