रक्षा मामलों की समिति की एक भी बैठक में नहीं आए, राहुल को अब सवाल उठाने का हक़ नहीं: नड्डा

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, राहुल गांधी एक ऐसे गौरवशाली वंशवाद परंपरा से ताल्लुक रखते हैं, जहां रक्षा मामलों में समितियां मायने नहीं रखती हैं, सिर्फ आयोग काम करते हैं। कांग्रेस में ऐसे कई काबिल लोग हैं, जो संसदीय मामलों को समझते हैं, लेकिन वंशवाद के चलते ऐसे नेताओं को आगे नहीं बढ़ाया जाता। यह वास्तव में बेहद दुखी करने वाला है।

नई दिल्ली: राहुल गांधी की ओर से चीन के साथ तनाव पर सरकार के रुख और कोरोना संकट को लेकर लगातार हो रहे सवालों पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नाखुशी जाहिर की है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के सरकार पर हमलों को लेकर सोमवार को नड्डा ने ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी जो कर रहे हैं, वो कभी भी एक जिम्मेदार विपक्षी नेता नहीं करता है। नड्डा का कहना है कि राहुल लगातार देश और सेना का मनोबल गिराने का काम कर रहे हैं जो कि ठीक नहीं है।

जेपी नड्डा ने अपने ट्वीट में लिखा है, राहुल गांधी रक्षा मामलों की स्थायी समिति की एक भी बैठक में शामिल नहीं हुए हैं, लेकिन दुख की बात है कि वह लगातार देश को हतोत्साहित कर रहे हैं और सेना की वीरता पर सवाल उठा रहे हैं। राहुल गांधी हर वो चीज कर रहे हैं, जो विपक्ष के किसी जिम्मेदार नेता को नहीं करनी चाहिए।

एक और ट्वीट में बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, राहुल गांधी एक ऐसे गौरवशाली वंशवाद परंपरा से ताल्लुक रखते हैं, जहां रक्षा मामलों में समितियां मायने नहीं रखती हैं, सिर्फ आयोग काम करते हैं। कांग्रेस में ऐसे कई काबिल लोग हैं, जो संसदीय मामलों को समझते हैं, लेकिन वंशवाद के चलते ऐसे नेताओं को आगे नहीं बढ़ाया जाता। यह वास्तव में बेहद दुखी करने वाला है।

भारत और चीन के बीच तनाव और 15 जून को 20 भारतीय सैनिकों की शहादत के बाद से राहुल गांधी केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर हैं। राहुल लगातार मांग कर रहे हैं कि सरकार सीमा पर स्थिति को देश के सामने रखे। वहीं पीएम मोदी के ये कहने पर कि कोई भी हमारी सीमा में नहीं आया है, राहुल हमला बोल रहे हैं। राहुल का कहना है कि अगर सीमा में कोई आया नहीं तो सैनिकों की जान कैसे गई। हाल में राहुल ने कुछ वीडियो भी शेयर किए हैं। जिसमें लद्दाख के लोग चीनी सेना के सीमा के अंदर आने का दावा कर रहे हैं। इस पर राहुल ने सरकार से पूछा है कि लद्दाख के लोग कहते हैं, चीन ने हमारी जमीन पर कब्जा किया तो वहीं पीएम कहते हैं कि किसी ने हमारी जमीन नहीं ली है। ऐसे में कोई एक तो झूठ बोल रहा है।