shahrukh khanनई दिल्लीः फिल्मी जगत के दिग्गज अभिनेता शाहरूख खान द्वारा असहनशीलता को लेकर दिए गए बयान को पहले ‘देशद्रोह’ बताने वाले बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के सुर अब पूरी तरह बदल गए हैं। इस मसले पर विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया है।

इस बारे में ट्वीट करते हुए विजयवर्गीय ने कहा है कि अगर भारत में असहिष्णुता होती तो अमिताभ के बाद शाहरूख इतने ज्यादा लोकप्रिय नहीं होते। उन्होंने यह भी लिखा कि उनका उद्देश्य किसी को भी ठेस पहुंचाना नहीं था। ध्यान देने वाली बात यह भी है बयान वापस लेने के बावजूद कैलाश विजयवर्गीय ने विवादित ट्वीट को डिलीट नहीं किया है।

बीते दो नवंबर को शाहरूख का बढ़ती असहिष्णुता को लेकर बयान आने के बाद बीजेपी के महासचिव पी मुरलीधर राव ने भी अभि‍नेता की निंदा की थी। मुरलीधर राव ने ट्विटर पर यही लिखा था कि अगर देश में असहिष्णुता होती तो आज शाहरुख खान को अपने लाखों फैंस से इतना प्यार नहीं मिलता।

गौरतलब है कि कैलाश विजयवर्गीय ने इससे पहले ट्वीट कर कहा था कि शाहरुख खान रहते भारत में हैं, लेकिन उनका मन सदा पाकिस्तान में रहता है। उनकी फिल्में यहां करोड़ों कमाती हैं पर उन्हें भारत असहिष्णु नजर आता है। यह देशद्रोह नहीं तो और क्या? बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान को देशद्रोही कहने के बाद विजयवर्गीय की कांग्रेस समेत तमाम दूसरे दलों के नेताओं ने उनकी आलोचना की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here