महाराष्ट्र: चंद्रकांत पाटिल बोले-शिवसेना के लिए खुले हैं दरवाजे, जनता ने गठबंधन को जनादेश दिया

मुंबई: विधानसभा चुनाव परिणाम आने के 13 दिन बाद भी महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर तस्वीर साफ नहीं है।  इसी बीच मंगलवार को भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के मुंबई में निवास पर बैठक की, ताकि राज्य की वर्तमान स्थिति पर चर्चा की जा सके। इस बैठक में महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल भी शामिल हुए।

महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि, लोगों ने भाजपा-शिवसेना गठबंधन को जनादेश दिया है, हम उस जनादेश का सम्मान करेंगे और सरकार बनाएंगे। शिवसेना ने अभी कोई प्रस्ताव नहीं दिया है। भाजपा के दरवाजे हमेशा शिवसेना के लिए खुले हैं। उधर मंगलवार को एक बार फिर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री सिर्फ शिवसेना का होगा। बीते 5 दिनों में राउत ने दूसरी बार शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होने की बात दोहराई है।

वहीं बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए बीजेपी नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि, हमने व्यापक चर्चा की। हम शिवसेना का इंतजार करेंगे लेकिन सरकार केवल हमारी होगी। यहां ‘अगर’ और ‘लेकिन’ की कोई गुंजाइश नहीं है, तो आपको कभी भी यह खबर मिलेगी कि हम सरकार बना रहे हैं। उधर, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के सलाहकार किशोर तिवारी ने राज्य में सरकार गठन को लेकर चले रहे गतिरोध को खत्म करने के लिए संघ प्रमुख प्रमुख मोहन भागवत को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने संघ प्रमुख से आग्रह किया है कि वे सरकार गठन को लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मध्यस्थता कराएं, ताकि भाजपा और शिवसेना के बीच जारी विवाद का सहमति से हल निकल सके।

इससे पहले सोमवार को मुंबई से दिल्ली तक मुलाकातों का सिलसिला चला। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दिल्ली में अमित शाह से मुलाकात की। इसके बाद मीडिया से बातचीत में फडणवीस ने सिर्फ इतना कहा कि महाराष्ट में जल्द सरकार का गठन होगा। राकांपा प्रमुख शरद पवार ने भी दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की। पवार ने कहा कि सोनिया से राज्य के राजनीतिक हालातों पर चर्चा हुई।