यूपी में बलिया के बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह का एक और विवादित बयान सामने आया है। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि मुसलमानों की संस्कृति है बहन बेटियों को अपनी पत्नी के रूप में देखना है।

सपा नेता आजम खान द्वारा जया प्रदा पर की गई टिप्पणी पर सुरेंद्र सिंह ने कहा कि ये आजम खान की संस्कृति है, उनकी संस्कृति में दुनिया की सभी बहनों को अपनी सभी बेटियों को सब अपनी पत्नी के रूप में मानते हैं।

सुरेंद्र सिंह ने कहा कि आजम खान का संस्कार ही यही है, वो अपने संस्कार के तहत ही बोल रहे हैं। उससे अधिक सोचने का स्तर आजम खान के पास नहीं है। ऐसे बदतमीज नेता के ऊपर टिप्पणी करना अप्रासंगिक है। ऐसे नेताओं को जेल में भेजना चाहिए।

इससे पहले, रामपुर से सपा के उम्मीदवार आजम खान के विवादित बयान पर जया प्रदा ने कहा था कि आजम खान ने हदें पार कर दी हैं।

जया ने कहा, ”मेरा चरित्र हनन किया जा रहा है। हमारी रक्षा कौन करेगा। अखिलेश यादव को मैं छोटा भाई मानती हूं।”

जयाप्रदा ने कहा था, ”यह मेरे लिए कोई नई बात नहीं है, आपको याद होगा कि मैं उनकी पार्टी से ‘2009 में एक उम्मीदवार थी। उन्होंने उस वक्त भी मेरे खिलाफ टिप्पणी की थी और किसी ने भी मेरा समर्थन नहीं किया था। मैं एक महिला हूं और मैं उस बात को दोहरा भी नहीं सकती जो उन्होंने कहा है। मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ क्या किया है कि वह ऐसी बातें कह रहे हैं।”

जयाप्रदा ने कहा था, ‘‘वह लक्ष्मण रेखा पार कर गये, अब मेरे लिये कोई (आजम) भाई नहीं है। भाई मान के सब कुछ सहने का काम किया था अब बर्दाश्त खत्म हो गया। जनता जो है वह बतायेगी, लोग महिलाओं को पूजते हैं, यह आदमी क्या कर रहा है? इसको चुनाव लड़ने का अधिकार है। मैं चुनाव आयोग से अपील करती हूं कि इनके चुनाव लड़ने की योग्यता खत्म हो जाए।’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने खान के बयान की निंदा की और कहा, ‘‘आजम का यह बयान समाजवादी पार्टी की घटिया सोच को दर्शाता है।’’