शाहीन बाग किसी के बाप का नहीं, वहां बैठे लोगों को चुन-चुनकर उठाया जाये – राकेश सिन्हा

बेगूसराय : बीजेपी के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने दिल्ली में भड़की हिंसा और उपद्रव को लेकर कांग्रेस पर तीखा वार किया है। राकेश सिन्हा ने कांग्रेस पर वामपंथी और सांप्रदायिक ताकतों को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

बेगूसराय पहुंचे राकेश सिन्हा ने दिल्ली में जारी हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि राहुल गांधी, उनकी पार्टी (कांग्रेस) और देश के वामपंथी सांप्रदायिक तत्वों को संरक्षण और प्रोत्साहन दे रहे हैं। उनके संविधान विरोधी काम को संविधान की रक्षा बता रही है।

राकेश सिन्हा ने कहा कि देश में जब एक मेहमान (अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप) आया हो, प्रतिष्ठा दांव पर हो उस वक्त दिल्ली में जो घटना घटी उसने देश में सिविल वार (गृह युद्ध) की स्थिति पैदा कर दी है और इसका एक ही निदान है कि शाहीन बाग में बैठे लोगों को चुन-चुन कर उठाया जाए‌। शाहीन बाग किसी के बाप की बपौती नहीं है, वो सार्वजनिक स्थान है।

राकेश सिन्हा ने शाहीन बाग में जारी आंदोलन को सत्याग्रह नहीं, दुराग्रह की संज्ञा दी।

बीजेपी सांसद ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जंगलराज कायम करने वाले लोग आज कानून और बेरोजगारी की बात कर रहे हैं। जंगल राज की स्थापना करने वाले लोगों को विकास और कानून की बात करने का अधिकार नहीं है। तेजस्वी के पास विकास का तेज नहीं है। वो सिर्फ जातिवाद की राजनीति करते हैं।

राज्यसभा सांसद अपने दो दिवसीय दौरे पर बेगूसराय पहुंचे थे जहां अलग-अलग कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद वो परिसदन में पत्रकारों से बात कर रहे थे।