यादव सिंह प्रकरण पर भाजपा अध्यक्ष ने सुनाई खरी- खरी - Tez News
Home > India News > यादव सिंह प्रकरण पर भाजपा अध्यक्ष ने सुनाई खरी- खरी

यादव सिंह प्रकरण पर भाजपा अध्यक्ष ने सुनाई खरी- खरी

lakshmi kant vajpayeeनोएडा – यादव सिंह सी.बी.सी.आई.डी. से जांच से बरी तो हो गये किन्तु विभागीय जांच आज तक लम्बित है। किन परिस्थतियों में यादव सिंह को तीन-तीन प्राधिकरणों का चार्ज दे दिया गया ? नोएडा प्राधिकरण में भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा नेता चेयरमैंन नोएडा प्राधिकरण से मिला। भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधि मण्डल प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी के नेतृत्व में चेयरमैंन से सवाल किया कि यादव सिंह के पांच सगे- सम्बन्धी किन परिस्थितियों में नोएडा में नौकरियों में कार्यरत है। उन्होंने प्राधिकरण के अधिकारियों से यादव सिंह पर जांच चलने की अवधि तक उनके सम्बधियों को विधि, प्रोजेक्ट मैनेजर जैसे महत्वपूर्ण चार्ज से अलग रखने की बात कही। डा0 बाजपेयी ने पूछा कि प्राधिकरण में किसानों के परिवार के लोगों को कितने नौकरियां दी ?

डा0 बाजपेयी के सवालों से निरूत्तर प्राधिकरण के चेयरमैंने ने ठिकरा मीडिया पर फोड़ते हुए प्रश्नों के उत्तर देने में हिला-हवाली करते रहे, यह तय हुआ कि 15 दिनों में जो पत्र उन्हें सौपा गया है उसका उत्तर विस्तार से देंगे। जो पत्र सौपा गया है उसके मुख्य विन्दु निम्म है।
– नीरा यादव का नोएडा प्राधिकरण का कार्यकाल कब से कब तक और उनके कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार के प्रकरणों की सूची और उन पर अद्यतन स्थिति की सम्बन्धित पत्रावली।

– राजीव कुमार का नोएडा प्राधिकरण का कार्यकाल कब से कब तक और उनके कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार के प्रकरणों की सूची और उन पर अद्यतन स्थिति की सम्बन्धित पत्रावली।
– राकेश बहादुर का नोएडा प्राधिकरण का कार्यकाल कब से कब तक और उनके कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार के प्रकरणों की सूची और उन पर अद्यतन स्थिति की सम्बन्धित पत्रावली।
– संजीव शरन का नोएडा प्राधिकरण का कार्यकाल कब से कब तक और उनके कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार के प्रकरणों की सूची और उन पर अद्यतन स्थिति की सम्बन्धित पत्रावली।
– मनोज राय का नोएडा प्राधिकरण का कार्यकाल कब से कब तक और उनके कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार के प्रकरणों की सूची और उन पर अद्यतन स्थिति की सम्बन्धित पत्रावली।
– 2002 से 2007 के मध्य में हुए कार्योंं में भ्रष्टाचार के प्रचलित प्रकरणों की पत्रावली।
– 2007 से 2012 तक हुए कार्योंं में भ्रष्टाचार के प्रचलित प्रकरणों की पत्रावली।
– 2012 से अब तक के हुए कार्योंं में भ्रष्टाचार के प्रचलित प्रकरणों की पत्रावली।
– यादव सिंह की नोएडा प्राधिकरण में तैनाती की तिथि, बदलते पदनाम और तैनाती की प्रक्रिया और मूल शैक्षिक योग्यता सेे सम्बन्धित पत्रावली।
– नोएडा प्राधिकरण में श्री यादव सिंह के कितने सम्बन्धी (पारिवारिक) कार्य कर रहे है और कब से, उनकी चयन की प्रक्रिया, नियुक्ति की तिथि और पदनाम से सम्बन्धित पत्रावली।
– यादव सिंह के विरूद्ध पहली बार लगे आरोप से वर्तमान आरोप पूर्व तक हुई कार्यवाही के विवरण से सम्बन्धित पत्रावली।
– यादव सिंह को इ0एन0सी0 बनाने की प्रक्रिया और तिथि की पत्रावली।
– यादव सिंह को कब-कब प्रमोशन दिया गया उसकी प्रक्रिया और प्रमोशन के समय शैक्षिक योग्यता के विवरण से सम्बन्धित पत्रावली।
– यादव सिंह द्वारा अपनी शैक्षिक योग्यता में की गयी वृद्धि, उसका वर्ष, उस संस्थान और प्रोफेसर के नाम की जानकारी की पत्रावली।
– क्या उपरोक्त संदर्भित प्रोफेसर का पुत्र/रक्त सम्बन्ध नोएडा प्राधिकरण में कार्यरत है तो कब से किस पद पर और उसकी चयन प्रक्रिया की पत्रावली।
– यादव सिंह द्वारा बिना बिधिक/स्थापित प्रक्रिया के बिना केबिल डालने का कार्य प्रारम्भ किया और कई माह बाद उसकी टेंडर प्रक्रिया की गया और योजनापूर्वक उसी ठेकेदार को दिया जाना इससे सम्बन्धित पत्रावली का अवलोकन।

– उपरोक्त संदर्भित प्रकरण की जानकारी कब आयी उनके विरूद्ध कब किस अधिकारी द्वारा किस सी0इ0ओ0 ने एफ0आई0आर0 कहां करायी गयी। एफ0आई0आर0 की जाॅच किस व्यक्ति और संस्था द्वारा की गयी और इसको सी0बी0 सी0आई0डी0 को कब और किसके द्वारा सौंपा गया से सम्बन्धित पत्रावली का अवलोकन।
– लुकआउट नोटिस किस सक्षम अधिकारी द्वारा और कब जारी किया गया।
– सी0बी0 सी0आई0डी0 द्वारा प्रकरण निक्षेपित करने का आधार क्या था और किस अधिकारी द्वारा उसे स्वीकृति दी गयी से सम्बन्धित प्राधिकरण की पत्रावली।
– क्या उपरोक्त प्रकरण की विभागीय जाॅच प्रारम्भ की गयी और कब और किस अधिकारी द्वारा इसका आदेश दिया गया विभागीय जाॅच का अधिकारी कौन और विभागीय जाॅच की वर्तमान स्थिति क्या है, से सम्बन्धित पत्रावली का अवलोकन।
– यादव सिंह की कोई जाॅच क्या श्रीमान लोकायुक्त के यहाॅ थी, उसका विषय क्या था, उस पर लोकायुक्त जी का मत क्या आया और आये मत का आधार क्या था, से सम्बन्धित पत्रावली।
– यदि लोकायुक्त जी के यहाॅ का प्रकरण पृथक था तो क्या विभागीय जाॅच प्रारम्भ की गयी और कब और किस अधिकारी द्वारा इसका आदेश दिया गया विभागीय जाॅच का अधिकारी कौन और विभागीय जाॅच की वर्तमान स्थिति क्या है, से सम्बन्धित पत्रावली।
– वर्तमान में आयकर और ई0डी0 का छापा पड़ने के बाद श्री यादव सिंह को निलम्बन में देरी के कारण तथा यह देरी प्राधिकरण स्तर या शासन स्तर से हुई की सम्बन्धित पत्रावली।
– निलम्बन के बाद उसको कहां सम्बद्ध किया गया और सम्बद्ध करने के बाद अवकाश स्वीकृत करने का कारण और स्वीकृत करने वाले अधिकारी का नाम क्या है, की जानकारी।
– नोएडा प्राधिकरण में किन किसानों की भूमि ली गयी, उनको बदले में क्या परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने तथा विकसित भूमि का 5 प्रतिशत वापस देने का प्रावधान था, यदि हाॅ तो कुल कितने किसानों को जमीन प्राधिकरण द्वारा दी गयी और उनके कितने किसानों के परिवार के सदस्यों को नौकरी दी गयी, की सूची व उससे सम्बन्धित पत्रावली।
– 5 प्रतिशत विकसित भूमि सभी किसानों को दी गयी या नही और जिस स्थल को उनको दिया जाना दिखाया गया। उसका बैनामा कार्यालय में बैठक कर ही अपने व्यक्तियों के नाम कराया जाना और बाद में मंहगें स्थान पर रखकर इसको बेचने का षड्यंत्र हुआ है। किसानों के साथ धोखे का सच क्या है, से सम्बन्धित पत्रावली।
– यादव सिंह के प्रकरण पर/प्राप्त डायरी के विषयों की जाॅच के लिए नोएडा प्राधिकरण सी0बी0आई0 जाॅच के लिए राज्य सरकार को लिखेगी, सहमत या असहमत।
– यादव सिंह से छापे में प्राप्त सम्पत्ति के सम्बन्ध में विभाग का क्या मत है।
– बसपा शासन में एक फार्महाउस घोटाला हुआ था, प्रत्येक फार्महाउस का रकबा 10 हजार वर्ग मीटर था और इस तरह के 368 फार्म हाउस थे। लोकायुक्त की जाॅच में इस घोटालें खुलासा हुआ तब साक्षात्कार की औपचारिकता पूर्ण करके उन्हीं पुराने आवंटियों से 2000 रू0 प्रति मीटर भ्रष्टाचार धन को वसूलने का घोटाला किया गया। एक फार्म हाउस 10000 वर्ग मीटर ग 2000 रू0 त्र 2 करोड़ रू0 कुल फार्म हाउस 368 ग 2 करोड़ रू0 त्र 736 करोड़ रू0 से सम्बन्धित पत्रावली का अवलोकन करना।

भाजपा के इस प्रतिनिधि मण्डल में प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी के अलावा सतीश महाना, सतपाल सिंह, बिमला बाथम, राजीव गुम्मबर, दया शंकर सिंह, अनूप गुप्ता, मनीष शुक्ला और पुष्पेन्द्र त्यागी समलित थे।

रिपोर्ट :- अश्वनी कुमार श्रीवास्तव

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com