भारतीय जनता पार्टी सरकार की अगुवाई कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पार्टी के ही एक प्रवक्ता ने विष्णु भगवान का ग्यारहवां अवतार बताया है।

महाराष्ट्र भाजपा के प्रवक्ता अवधूत वाघ द्वारा ट्वीट कर पीएम मोदी को विष्णु का अवतार बताने के बाद विपक्ष और सोशल मीडिया पर इस बयान से नाराजगी देखी जा रही है। कांग्रेस ने इस बयान को देवताओं का अपमान करार दिया।

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता अवधूत वाघ ने ट्वीट किया, ‘सम्मानीय प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी भगवान विष्णु का ग्यारहवां अवतार हैं।’ उन्होंने कहा, ‘देश का सौभाग्य है कि हमें मोदी में भगवान जैसा नेता मिला।’

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंधे ने वाघ पर हमला करते हुए कहा कि यह देवताओं का अपमान है। उन्होंने कहा, ‘यह (वाघ द्वारा) खोयी गयी राजनीतिक जमीन हासिल करने की कोशिश भी है. मुझे नहीं लगता कि इस टिप्पणी को ज्यादा महत्व देने की जरुरत है।’

लोंधे ने कहा कि यह टिप्पणी सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी के अंदर ‘संस्कृति के निम्नस्तर’ की झलक है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक जितेंद्र आव्हाड ने कहा, ‘वाघ वीजेटीआई से अभियांत्रिकी स्नातक हैं। अब इस बात की जांच करने की जरुरत है कि उनका (डिग्री) सर्टिफिकेट असली है या नहीं। ऐसी उनसे आशा नहीं थी।’

वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलोजी इंस्टीट्यूट (वीजेटीआई) एशिया में सबसे पुराने अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में एक है।

मालूम हो कि वर्तमान उपराष्ट्रपति और तत्कालीन संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रशंसा करते हुए उन्हें भारत के लिए भगवान का वरदान बताया था।

वहीं मंत्रिमंडल के एक और नेता राधा मोहन सिंह ने भी मोदी की प्रशंसा करते हुए ऐसी ही बात कही थी। राधामोहन सिंह ने कहा था कि, ‘स्वतंत्रता के बाद कोई ऐसी सरकार सत्ता में नहीं आई, जिसने देश के भविष्य के बारे में इतनी अधिक चिंता हो। इस लिहाज से मोदी सरकार और पीएम मोदी भगवान का उपहार हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मोदी अद्भुत हैं। शिवराज सिहं ने कहा, ‘पीएम मोदी जिस तरह से काम कर रहे हैं ये किसी साधारण आदमी के बूते का काम नहीं है. इसलिए नरेंद्र मोदी के रूप में भगवान ने भारत को एक वरदान दिया है।’