अंधे क़त्ल का पर्दाफाश, समलैंगिक संबंध के चलते हुई हत्या - Tez News
Home > Crime > अंधे क़त्ल का पर्दाफाश, समलैंगिक संबंध के चलते हुई हत्या

अंधे क़त्ल का पर्दाफाश, समलैंगिक संबंध के चलते हुई हत्या

Gay, Shemale, Lesbian, Sex Same Gender News In Hindiमंडला- मंडला थाना अन्तर्गत कृषि उपज मंडी में रविवार को हुई अंधी हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने चौकाने वाले खुलासा किया है। पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार के मुताबिक मृतक आरोपी का दैहिक शोषण कर रहा था। मंडला में यह अपनी तरह का पहला और अनोखा मामला है।

मृतक और आरोपी मंडी परिसर में चल रहे निर्माण कार्य में काम कर रहे थे। मृतक डिंडोरी निवासी अशोक झरिया पिछले कुछ दिनों से अपनी समलैंगिक इच्छा पूर्ति के लिए आरोपी राजकुमार का दैहिक शोषण कर रहा था जिससे आरोपी परेशान और गुस्से में था। रात के वक़्त जब मृतक नशे की हालत में सो रहा था तब आरोपी ने उसके सर पर लोहे की रॉड से वार कर उसकी हत्या कर दी और शव कमरे के बाहर खुले मैदान में फेक दिया। पुलिस ने आरोपी को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर लिया है।

रविवार की सुबह मंडला के कोतवाली थाने में टेलीफोन की घंटी बजी, फ़ोन रिसीव करने पर पुलिस को स्थानीय कृषि उपज मंडी में अज्ञात शव होने की सूचना मिली। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो उसे अर्धनग्न शव मिला जिसके सर पर चोट के निशान थे। पहली नज़र में ही साफ़ हो गया की मामला हत्या का है। अमूमन मंडला में हत्या के मामले कभी – कभी ही सामने आते है, उस लिहाज से मामला काफी गम्भीर था। लिहाजा थाना प्रभारी सतीश सिंह ने तुरंत अपने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दे दी। हत्या की सूचना मिलते ही नवागत पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार अतरिक्त पुलिस अधीक्षक ओंकार कलेश के साथ मौके के जा पहुंचे। पुलिस अधीक्षक ने बारीकी से शव और घटना स्थल का जायजा लिया और अपने टीम को जरुरी हिदायतें दी। शव की शिनाख्त न होने से सबसे पहले आईपीसी की धारा 302 के तहत शून्य हर अपराध कायम कर पुलिस ने विवेचना शुरू कर दी।

घटना स्थल से मिली एक डायरी में लिखे मोबाइल नंबर्स पर बात करने से मृतक की शिनाख्त डिंडोरी जिले के शहपुरा निवासी अशोक कुमार झरिया के रूप में हुई जो मंडी में मिस्त्री का काम करता था और मंडी मे ही रहता था। विवेचना के दौरान पुलिस को पता चला की अशोक के साथ एक अन्य व्यक्ति भोला उर्फ़ राजकुमार भी रहता था जो मंडला जिले के ग्राम अमगांव का निवासी है। पुलिस ने राजकुमार को तलाश कर उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो सार मामला ही साफ़ हो गया। आरोपी राजकुमार ने हत्या करना तो स्वीकार कर लिया लेकिन उसने हत्या की जो वजह बताई वो चौकाने वाली थी। आरोपी ने बताया कि मृतक उसके साथ बलपूर्वक समलैंगिक सम्बन्ध बनकर उसका दैहिक शोषण कर रहा था जिससे परेशां होकर उसने मौका पाकर नशे की हालत में सो रहे अशोक के सर में रॉड मारकर उसकी की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी राजकुमार की निशानदेही पर हत्या के इस्तेमाल की गई रॉड व खून से लथपथ कपडे जप्त कर चिकत्सीय परिक्षण उपरांत आरोपी राजकुमार को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने इस अंधे हत्या कांड का खुलासा शिकायत दर्ज होने के 4 घंटों के अंदर करने का दावा किया है। इस हत्याकांड के खुलासे में पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओंकार कलेश, कोतवाली थाना प्रभारी सतीश सिंह, उप निरीक्षक रविंद्र कुमार, ओमेश गोल्हानी, संतोष वाघेला, सहायक उपनिरीक्षक धनराज नंदा, प्रधान आरक्षक अवदेश तिवारी, आरक्षक विवेक दुबे, प्रशांत अवस्थी, मानसिंह परस्ते और कंकुल नगपुरे का विशेष योगदान रहा। अंधी हत्या का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक ने पुरुस्कृत करने की घोषणा की है।

अंधे हत्याकांड का पर्दाफाश, समलैंगिक संबंध के चलते हुई हत्या
Blind murder case expose, These murder of gay relationship

रिपोर्ट- @सैयद जावेद अली

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com