Operation Blue Star, Khalistanअमृतसर – ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर गोल्डन टेंपल के अंदर दो सिख गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई। इस कार्यक्रम के दौरान खालिस्तान के समर्थक और विरोधी दोनों मौजूद थे। हिंसक हाथापाई के लिए खालिस्तान समर्थक नारों को जिम्मेदार बताया जा रहा है।

एएनआई से मिली खबर के अनुसार ब्लू स्टार की बरसी पर खालिस्तानी समर्थक और विरोधी गुट गोल्डन टेंपल परिसर पहुंचे थे। वहां खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने के दौरान मामला हिंसक हो गया। तलवार, लाठी और कटारी से लेस समर्थक और विरोधी आपस में भिड़ गए।

पुलिस ने पहुंचकर मामले को शांत किया और लोगों को गिरफ्तार करके पूछताछ जारी है। कई लोगों के घायल होने की भी खबर है।

खालिस्तानी अलगाववादियों के खिलाफ 3 से 8 जून 1984 को गोल्डन टेंपल के अंदर ऑपरेशन ब्लू स्टार को अंजाम दिया गया था जिसमें खालिस्तानी अलगाववादी नेता जरनैल सिंह भिंडरावाला को मार गिराया गया था। इस पूरे ऑपरेशन में गोल्डन टेंपल को काफी क्षति हुई थी जिससे सिखों की काफी भावनाएं भी आहत हुई थीं। ऑपरेशन ब्लू स्टार की याद में हर साल गोल्डन टेंपल में बरसी मनाई जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here