मुंबई- बीएमसी की 227 सीटों में से 226 सीटों के नतीजे आ गए हैं। शिवसेना को 84 सीटें मिली हैं। वहीं भाजपा 81 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही है। कांग्रेस के हाथ 31 सीटें लगी हैं। एनसीपी को 9, एमएनएस 7 और अन्य को 14 सीटें मिली हैं। परिणामों के अनुसार दो दशक से मुंबई पर राज कर रही शिवसेना इस बार भी नंबर एक पार्टी बनकर सामने आई है लेकिन पूर्व में उसकी सहयोगी रही भाजपा ने उसे जोरदार टक्कर देकर सारे समीकरण उलझा दिए हैं। शिवसेना को जहां 227 में से 84 सीट मिली हैं वहीं भाजपा 81 सीट लेकर दूसरे नंबर पर है। 30 सीटें लेकर कांग्रेस तीसरे नंबर पर है, जबकि 10 सीटों के साथ एनसीपी चौथे और 7 सीटों के साथ राज ठाकरे की मनसे पांचवे स्थान पर रही। इसके अलावा ठाणे को छोड़कर राज्य के अन्य नगर निकायों पर भी भाजपा का ही कब्जा पक्का दिखाई दे रहा है।

शिवसेना के विजयी उम्मीदवार
तेजस्विनी घोसाळकर ,अनिल कोकीळ, श्रद्धा जाधव, मिलिंद वैद्य, सिंधू मसूरकर, स्वप्नील टेंबवलकर, सुरेंद्र बागलकर विजयी, विशाखा राऊत, सुरेश पाटील, अरुंधती दुधवडकर, दिपाली गोसावी का नाम शामिल है।

भाजपा के विजयी उम्मीदवार
नील सोमैया, पराग शहा, अनिता पांचाळ, अनुराधा पोतदार, हर्षदा नार्वेकर, दीपक ठाकूर, दीपक ठाकूरमनोज कोटक, प्रकाश गंगाधारे, कल्पना केणी, मधून प्रभाकर शिंदे, समिता कांबळे का नाम शामिल है।

कांग्रेस के विजयी उम्मीदवार
आशा कोपरकर, सुषमा कमलेश राय, विन्नी डिसोझा, निकिता निकम का नाम शामिल है।

वहीं एनसीपी की ओर से ज्योती हारून खान और डॉ. सईदा खान ने जीत दर्ज की। मनसे की ओर से अर्चना भालेराव, दिलीप लांडे और संजय तुरडे जीते। समाजवादी पार्टी की सीट पर शायना खान की जीत हुई।

बीएमसी चुनाव पर सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट करके कहा है कि शिव सेना और भाजपा को एक हो जाना चाहिए क्योंकि दोनों में हिंदूत्व के खून का रिश्ता है। सुब्रमण्यम स्वामी ने दोनों को साथ लाने के लिए काम करने की भी बात भी कही।

कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के कारण संजय निरुपम ने इस्तीफे की पेशकश की है। बीएमसी में कांग्रेस की हार पर बोलते हुए संजय निरुपम ने कहा कि, ”मैं हार की जिम्मेदारी लेता हूं” साथ ही संजय निरूपम ने पार्टी के अंदर गुटबाजी का भी आरोप लगाया है। इससे पहले नारायण राणे ने कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के लिए संजय निरुपम को जिम्मेदार ठहराया था। वहीं शिव सेना के संजय राउत ने साफ किया किया कि बीजेपी से गठबंधन गठबंधन नहीं करेंगे।

– ठाणे की 130 सीट

शिवसेना 42 सीट
बीजेपी 17
कांग्रेस 2
एनसीपी 20
एमएनएस 4
अन्य 4 सीटों पर आगे

– नासिक की 122 सीट

शिवसेना 33 सीट,
बीजेपी 51,
कांग्रेस 6,
एनसीपी 04,
एमएनएस 3
अन्य 4 सीटों पर आगे

– पुणे की 162 सीट

शिवसेना 10 सीट,
बीजेपी 77,
कांग्रेस 16,
एनसीपी 44,
एमएनएस 6
अन्य 5 सीटों पर आगे

– सोलापुर की 102 सीट

शिवसेना 18 सीट,
बीजेपी 47,
कांग्रेस 11,
एनसीपी 03,
एमएनएस 0
अन्य 8 सीटों पर आगे

– नागपुर की 145 सीट

बीजेपी 54,
कांग्रेस 19,
एनसीपी 1,
अन्य 4 सीटों पर आगे
नागपुर में शिवसेना का खाता नहीं खुला।

– उल्हासनगर———–78
शिवसेना 21
बीजेपी 33
कांग्रेस 1
एनसीपी 4
एमएनएस 0
अन्य 8

– अमरावती—–59
शिवसेना 04
बीजेपी 35
कांग्रेस 06
एनसीपी 00
एमएनएस 00
अन्य 12

– अकोला——-80
शिवसेना 04
बीजेपी 36
कांग्रेस 09
एनसीपी 04
एमएनएस 00
अन्य 12

– पिंपरी चिंचवाड़——128
शिवसेना 06
बीजेपी 31
कांग्रेस 00
एनसीपी 22
एमएनएस 0
अन्य 01
[एजेंसी]