Home > Latest News > काबुल में बम ब्लास्ट, 40 लोगों की मौत, तालिबान ने ली जिम्मेदारी

काबुल में बम ब्लास्ट, 40 लोगों की मौत, तालिबान ने ली जिम्मेदारी

काबुल: काबुल के भीड़-भाड़ वाले एक इलाके में शनिवार को विस्फोटकों से भरी एक एंबुलेंस में विस्फोट हो गया. इस विस्फोट में कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई और 140 अन्य घायल हो गए। हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है। पिछले साल मई में राजधानी काबुल के कूटनीतिक क्षेत्र में एक ट्रक में हुए विस्फोट के बाद अभी तक के सबसे बड़े विस्फोट के कारण अफरा-तफरी मच गई और डरे-सहमे लोग इधर-उधर भागने लगे। यह विस्फोट ऐसी जगह हुआ है जहां यूरोपीय संघ समेत कई बड़े संस्थानों के कार्यालय मौजूद हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वहीद मजरूह ने बताया, ‘‘काबुल अस्पतालों से मिल रही सूचना के मुताबिक मृतकों की संख्या 40 है और 140 घायल हैं।’’

विस्फोट की तीव्रता के चलते कम से कम दो किलोमीटर दूर स्थित क्षेत्रों में मौजूद इमारतों की खिड़कियां हिल गईं और घटनास्थल से 100 मीटर के अंदर स्थित इमारतों की खिड़कियां टूट गईं. कुछ कम ऊंची इमारतें गिर भी गईं। गृह मंत्रालय के उप प्रवक्ता नसरत रहीमी ने बताया, ‘‘आत्मघाती हमलावर ने जांच चौकी से गुजरने के लिए एक एंबुलेंस का इस्तेमाल किया। उसने एंबुलेंस में एक मरीज को जमूरियत अस्पताल ले जाने की बात कहकर पहली जांच चौकी पार की और दूसरी जांच चौकी पर उसे पहचान लिया गया और उसने विस्फोटकों से लदी गाड़ी को उड़ा दिया।’’

तालिबान ने सोशल मीडिया पर हमले की जिम्मेदारी ली है। इटली के एनजीओ इमरजेंसी ने बताया कि सात मृतकों और 70 घायलों को उसके अस्पताल लाया गया। उसके संयोजक ने देजान पेनिक ने ट्वीट किया कि यह एक ‘‘नरसंहार’’ है। नागरिकों ने जख्मी लोगों को अपनी पीठ पर लादकर मलवे से ढंकी सड़कों से गुजरते हुए उन्हें अस्पताल पहुंचाया और कई अन्य ने जख्मी लोगों को एंबुलेंस में डालने में मदद की. सोशल मीडिया पर साझा की गई तस्वीरों को कथित तौर पर विस्फोट की तस्वीरें बताया जा रहा है जिसमें आसमान में धुएं का गुबार उठता हुआ दिखाया गया है।

यह विस्फोट शहर के व्यस्ततम इलाके में हुआ है जहां उच्च शांति परिषद् का कार्यालय स्थित है। इस परिषद् को तालिबान के साथ बातचीत करने का जिम्मा सौंपा गया है। परिषद् की एक सदस्य हसीना सफी ने बताया, ‘‘इसने हमारी जांच चौकियों को निशाना बनाया। यह बहुत जबरदस्त विस्फोट था- हमारी सारी खिड़कियां टूट गई हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अबतक हमारे पास हमारे किसी भी सदस्य के मारे जाने की कोई खबर नहीं है।’’ एक अधिकारी ने बताया कि काबुल में यूरोपीय संघ प्रतिनिधि मंडल के सदस्य सुरक्षित कमरे में मौजूद थे और किसी के भी हताहत होने की बात सामने नहीं आई है।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com