Home > State > Delhi > यूपीए का एक और घोटाला सामने आया !

यूपीए का एक और घोटाला सामने आया !

scamनई दिल्ली- अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के बाद रक्षा क्षेत्र से जुड़े अब एक और नया घोटाला देश की राजनीति में भूचाल ला सकता है। यूपीए शासनकाल में ब्राजील की एक विमान बनाने वाली कंपनी, एम्ब्रायर ने भारत से 208 मिलियन डॉलर की तीन EMB-145 जेट विमानों का सौदा किया था। अब इस रक्षा सौदे में ब्राजील और अमेरिकी कानून मंत्रालय ने आरोप लगाया है कि  इस डील के लिए एम्ब्रायर कंपनी ने ब्रिटेन स्थित बिचौलिये को कमिशन दिया था। बता दें कि भारत में रक्षा सौदों के लिए इस तरह की दलाली या कमिशन दिया जाना प्रतिबंधित है।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक इन तीन EMB-145 एयरक्राफ्ट्स को स्वदेशी राडारों से लैस कर डीआरडीओ की 2,520 करोड़ रुपये की (एयरबॉर्न अर्ली वॉर्निंग ऐंड कंट्रोल सिस्टम्स) महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत तैयार किया गया है। ब्राजीली कंपनी एम्ब्रायर ने पहला EMB-145 एयरक्राफ्ट 2011 में डीआरडीओ को सौंपा था।

इसके बाद अन्य विमानों को सौंपा गया। इसके बाद डीआरडीओ ने इन्हें लंबे इंतजार के बाद पिछले साल दिसंबर में प्रॉजेक्ट में तैनात किया। इस डील में घूसखोरी का मामला सामने आने के बाद रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘डीआरडीओ का कहना है कि उन्हें ऐसे किसी मामले की जानकारी नहीं है।’

डीआरडीओ के चीफ एस. क्रिस्टोफर ने इस मामले में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है। उल्लेखनीय है कि 2008 में जब यह डील हुई थी, उस वक्त डीआरडीओ के चीफ एस. क्रिस्टोफर एयरबॉर्न अर्ली वॉर्निंग ऐंड कंट्रोल सिस्टम्स के हेड भी थे। 2015 में एनडीए सरकार ने उन्हें डीआरडीओ के चेयरमैन के पद पर तैनात किया था।

ब्राजील के न्यूजपेपर ‘फोल्हा डे साओ पाउलो’ की रिपोर्ट के मुताबिक 2008 में भारत से हुई डील में संभावित घूस प्रकरण पर अमेरिकी कानून मंत्रालय की नजर है। अमेरिका द्वारा एम्ब्रायर की 2010 से ही जांच की जा रही है। डॉमिनिकन रिपब्लिक के साथ हुए कॉन्ट्रैक्ट के बाद से ही कंपनी के खिलाफ जांच चल रही है।

अब इस जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है। भारत और सऊदी अरब समेत 8 देशों के साथ हुई कंपनी की डील की जांच की जा रही है। अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक एम्ब्रेयर के डिफेंस सेल्स मैनेजर अल्बर्ट फिलिप ने बताया कि कंपनी के पूर्व सेल्स डायरेक्टर, जो यूरोप में तैनात थे, ने अमेरिकी जांचकर्ताओं को बताया कि फर्म ने एक व्यक्ति से संपर्क किया था, जो अमेरिका को सर्विलांस सिस्टम बेचने की डील में मदद कर सके। [एजेंसी]




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .